भारत

रेलवे पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, चाय के कपों पर लिखा ‘मैं भी चौकीदार’

काठगोदाम शताब्दी एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे एक यात्री द्वारा पेपर कप की तस्वीर के साथ किया गया ट्वीट वायरल होने पर रेलवे ने कहा कि उसने कप हटा लिए हैं और ठेकेदार को दंडित किया है. हाल ही में रेलवे और एयर इंडिया ने अपने टिकट और बोर्डिंग पास पर नरेंद्र मोदी की तस्वीर प्रकाशित की थी.

(फोटो साभार: ट्विटर)

(फोटो साभार: ट्विटर)

नयी दिल्ली: रेलवे एक बार फिर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों में घिर गया, जब यात्रियों ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें जिन पेपर कपों में चाय दी गई उस पर ‘मैं भी चौकीदार’ लिखा था.

काठगोदाम शताब्दी एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे एक यात्री द्वारा पेपर कप की तस्वीर के साथ किया गया ट्वीट वायरल होने पर रेलवे ने कहा कि उसने कप हटा लिए हैं और ठेकेदार को दंडित किया है. रेलवे की ओर से कहा गया है कि ठेकेदार पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

ऐसा दावा किया गया कि इन कपों में दो बार चाय दी गई. कप पर विज्ञापन एनजीओ ‘संकल्प फाउंडेशन’ ने दिया था.

कुछ दिन पहले रेलवे और एयर इंडिया पर चुनाव आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरों वाली टिकटें जारी करने के आरोप लगे थे. रेलवे ने सफाई दी थी कि यह अनजाने में हुई ग़लती है. बाद में रेलवे ने ये टिकट वापस ले लिए थे.

रेलवे टिकट और एयर इंडिया के बोर्डिंग पास पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो लगाने पर आचार संहिता के उल्लंघन की वजह से चुनाव आयोग ने रेलवे और नागर उड्डयन मंत्रालय को कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

एयर इंडिया ने अपने बोर्डिंग पास पर वाइब्रेंट गुजरात समिट का विज्ञापन दे दिया था, जिस पर नरेंद्र मोदी और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की तस्वीरें भी थीं. एयर इंडिया के बाद निजी विमान सेवा प्रदाता कंपनी गो एयर ने भी ऐसे ही बोर्डिंग पास जारी कर दिए थे. चुनाव आयोग की ओर से नोटिस जारी होने के बाद एयर इंडिया और गो एयर ने ये बोर्डिंग पास वापस ले लिए थे.

बहरहाल, चाय के कप पर ‘मैं भी चौकीदार’ लिखा होने के संबंध में इंडियन रेलवे टूरिज़्म एंड कैटरिंग कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘उन ख़बरों की जांच की गई जिनमें कहा गया कि ‘मैं भी चौकीदार’ लेबल वाले कपों में चाय दी गई. यह आईआरसीटीसी की बिना पूर्व मंज़ूरी के किया गया. सुपरवाइज़र/पैंट्री प्रभारियों से ड्यूटी में लापरवाही बरतने को लेकर स्पष्टीकरण मांगा गया है.’

उन्होंने कहा, ‘सेवा प्रदाता पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. इस कदाचार के लिए सेवा प्रदाता को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है.’

मालूम हो कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सत्ताधारी दल के दूसरे सदस्यों ने ख़ुद को चौकीदार बताया था. इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित उनके सभी मंत्रियों और भाजपा नेताओं ने ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा दिया था.

अपने ट्विटर अकाउंट के नाम में ‘चौकीदार’ शब्द जोड़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ‘आपका चौकीदार दृढ़ खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है. लेकिन मैं अकेले नहीं हूं, जो भी भ्रष्टाचार, गंदगी और सामाजिक बुराइयों के ख़िलाफ़ लड़ रहा है, वो चौकीदार है. जो भी भारत की तरक्की के लिए कठिन परिश्रम कर रहा है, वो चौकीदार है. आज हर भारतीय कह रहा है #MainBhiChowkidar.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)