भारत

चुनाव आयोग ने भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो के चुनावी गाने पर रोक लगाई

तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के थीम सॉन्ग को लेकर चुनाव आयोग से शिकायत की थी, जिसके बाद चुनाव आयोग ने भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो को कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

बाबुल सुप्रियो. (फोटो: पीटीआई)

बाबुल सुप्रियो. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः चुनाव आयोग (ईसी) ने लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए पश्चिम बंगाल के आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो द्वारा तैयार किए गए भाजपा के थीम सॉन्ग पर शनिवार को रोक लगा दी.

भाजपा ने पश्चिम बंगाल में मतदाताओं को लुभाने के लिए इस गाने को कंपोज किया था.

आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजय बसु ने संवाददाताओं के बताया, ‘सबसे पहले तो ये कि इस थीम सॉन्ग के लिए पहले मंजूरी नहीं ली गई और इसे अलग-अलग स्थानों पर चलाया जा रहा है इसलिए इसे रोकने के निर्देश दिए गए हैं.’

अधिकारी ने कहा कि इस गाने के लिए मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमिटी (एमसीएमसी) से मंजूरी नहीं ली गई थी और इस तरह यह आचार संहिता का उल्लंघन है.

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने इस गाने के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज की थी, जिसमें दावा किया गया था कि गायक बाबुल सुप्रियो द्वारा गाया और कंपोज किया गया गाना बिना सर्टिफिकेशन के सोशल मीडिया पर जारी किया गया था.

इसके बाद भाजपा ने इस गाने को मंजूरी देने के लिए गाने के बोल चुनाव आयोग के समक्ष पेश किए थे, जिसके बाद राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने पार्टी से संशोधित गाने की मांग की थी.

इसके बाद चुनाव आयोग ने इस मामले में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया था. चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में तीन अप्रैल को हुई भाजपा की दो रैलियों में भी इस गाने को बजाने की अनुमति नहीं दी थी.