राजनीति

उत्तर प्रदेशः कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन भगोड़ा घोषित, संपत्ति कुर्क करने का आदेश

उत्तर प्रदेश के कैराना से समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन के ख़िलाफ़ 12 एफआईआर दर्ज की गई हैं, जिनमें हत्या की कोशिश और रंगदारी मांगना भी शामिल है. वह लगातार गिरफ़्तारी से बच रहे हैं.

सपा विधायक नाहिद हसन. (फोटो साभारः फेसबुक)

सपा विधायक नाहिद हसन. (फोटो साभारः फेसबुक)

मुजफ्फरनगरः उत्तर प्रदेश के कैराना से समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक नाहिद हसन को शामली की एक अदालत ने भगोड़ा घोषित कर दिया गया है.

अदालत ने पुलिस को भगोड़े विधायक नाहिद हसन की संपत्ति कुर्क करने की कार्यवाही शुरू करने की इजाजत भी दे दी है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि हसन के खिलाफ 12 एफआईआर दर्ज की गई हैं, जिनमें हत्या के प्रयास, रंगदारी मांगना भी शामिल है. वह लगातार गिरफ्तारी से बच रहे हैं.

शामली के एसपी अजय कुमार ने कहा, ‘शामली की अदालत ने नाहिद हसन को भगोड़ा घोषित कर दिया. शामली में उसके खिलाफ आठ मामले दर्ज हैं, जबकि सहारनपुर में चार. नाहिद हसन लोगों को डराने-धमकाने के भी आरोपी हैं. पुलिस की कई टीमें उनका पता लगा रही हैं. हम उनकी संपत्ति भी कुर्क कर रहे हैं.’

अधिकारियों ने रविवार को बताया कि हसन के खिलाफ संपत्ति कुर्क करने की कार्यवाही शुरू करने की इजाजत मांगने के पुलिस के आवेदन पर शनिवार को सुनवाई करते हुए अदालत ने विधायक से समर्पण करने को भी कहा.

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने बताया कि पुलिस ने कुर्की की कार्यवाही शुरू कर दी है.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, पुलिस ने नाहिद हसन के घर के बाहर लाउडस्पीकर पर कैरानावासियों को बताया कि विधायक फरार हैं और किसी को भी उनके बारे में कोई जानकारी मिलती है तो वे पुलिस को सूचित करें.

पुलिस ने रविवार को सीआरपीसी की धारा 82 के तहत सपा विधायक के घर के बाहर एक नोटिस चस्पा किया. विधायक को अदालत के समक्ष पेश होने के लिए पांच नवंबर तक का समय दिया गया है.

गौरतलब है कि नौ सितंबर को एक अधिकारी ने हसन की गाड़ी के कागजात की जांच करने के लिए उन्हें रोका था, लेकिन विधायक ने कथित रूप से अधिकारी के साथ बदसलूकी की थी.

कुमार ने बताया कि बाद में पता चला कि हसन की गाड़ी का पंजीकरण नहीं हुआ था.

मालूम हो कि नाहिद हसन एक प्रभावशाली राजनीतिक परिवार से ताल्लुक रखते हैं. उनकी मां तबस्सुम हसन दो बार कैराना लोकसभा सीट से सांसद रही हैं, जबकि उनके पिता मुनव्वर हसन सांसद और विधायक दोनों रह चुके हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)