राजनीति

महाराष्ट्र: ईवीएम की ख़राबी से कई जगह मतदान प्रभावित, कांग्रेस ने की चुनाव आयोग से शिकायत

महाराष्ट्र कांग्रेस ने चुनाव आयोग को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में ख़राबी की 187 शिकायतें भेजी हैं. राज्य में विधानसभा की 288 सीटों पर शाम पांच बजे तक 54.53 प्रतिशत मतदान रिकॉर्ड किया गया.

Nagpur: People wait in queues to cast their votes for Maharashtra Assembly elections, at a polling station in Nagpur, Monday, Oct. 21, 2019. (PTI Photo) (PTI10_21_2019_000327)

महाराष्ट्र के नागपुर शहर में सोमवार को हुए विधानसभा चुनाव में वोट करने के लिए अपनी बारी का इंतजार करतीं महिलाएं. (फोटो: पीटीआई)

मुंबई: महाराष्ट्र के रत्नागिरि और भंडारा जिलों में सोमवार को कुछ बूथों पर ईवीएम में खराबी के चलते मतदान में देरी हुई. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि तकनीकी खराबी के चलते मुंबई में वर्ली इलाके के एक बूथ पर भी मतदान कुछ देर के लिए प्रभावित रहा.

राज्य कांग्रेस इकाई ने भी चुनाव आयोग को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में खराबी की 187 शिकायतें भेजी हैं.

चुनाव अधिकारियों ने बताया कि रत्नागिरि के धामनगांव गांव में ईवीएम में तकनीकी खराबी के चलते सुबह साढ़े आठ बजे से 10 बजे तक एक बूथ पर मतदान रोक दिया गया था.

उन्होंने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी की वजह से रत्नागिरि के कलमबन गावणवाड़ी गांव में एक बूथ पर मतदान की प्रक्रिया सुबह 9:42 बजे के बाद रोक दी गई. इस बूथ पर मतदान दोबारा दोपहर 12:30 बजे शुरू हुआ.

उन्होंने कहा कि भंडारा जिले में सुबह 9:15 बजे से सुबह 9:35 बजे तक मतदान बाधित रहा.

मुंबई में वर्ली इलाके में दूरदर्शन कार्यालय के पास एक मतदान केंद्र में इसी तरह के तकनीकी कारणों के चलते मतदान कुछ समय तक बाधित रहा.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुंबई कांग्रेस के महासचिव अविनाश पांडेय ने कहा, ‘हमें रामटेक विधानसभा के बूथ नंबर 337 से शिकायत मिली है. ईवीएम पर अगर आप कोई बटन दबाते हैं तो वीवीपैट पर कोई अलग ही निशान बनकर बाहर आ रहा है. हमने इस संबंध में चुनाव आयोग से शिकायत की है.’

महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटों पर सोमवार को मतदान हुए. शाम पांच बजे तक 54.53 प्रतिशत मतदान रिकॉर्ड किया गया. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला भाजपा की अगुवाई वाले महागठबंधन और कांग्रेस-राकांपा गठबंधन के बीच है.

महाराष्ट्र में 235 महिलाओं सहित 3,237 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं, जिनकी किस्मत का फैसला 8,97,22,019 मतदाता करेंगे. मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाए गए हैं.

राज्य में भाजपा ने 164 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं, जिसमें छोटे सहयोगी दल भी हैं जो पार्टी के चुनाव चिह्न कमल के तहत चुनाव लड़ रहे हैं. सहयोगी शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

दूसरी ओर, कांग्रेस ने 147 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं जबकि सहयोगी राकांपा ने 121 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं.

अन्य दलों में राज ठाकरे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने 101 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे हैं. चुनाव में 1,400 निर्दलीय उम्मीदवार भी ताल ठोक रहे हैं.

2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने 122 सीटें, शिवसेना ने 63, कांग्रेस ने 42 और राकांपा ने 41 सीटें जीतीं थी. दो विधायकों कृष्ण घोड़ा (पालघर) और बाला सावंत (बांद्रा-पूर्व) के निधन के कारण बाद में दो उपचुनाव हुए थे. शिवसेना ने दोनों सीटों पर अपनी जीत बरकरार रखी थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)