Author Archives

उमा राग

india-students_Reuters

‘स्वायत्तता’ का जुमला गढ़कर सरकार पढ़ने के अधिकार पर हमला कर रही है

‘स्वायत्तता’ के आगमन के साथ-साथ अब अकादमिक संस्थान दुकानों में तब्दील कर दिए जाएंगे, जहां बाज़ार की ज़रूरतों के अनुरूप कोर्स गढ़े जाएंगे और उसी के अनुसार उनकी फीस तय होगी.