यूपी, असम में हमारी सरकारों ने प्रदर्शनकारियों को कुत्तों की तरह माराः बंगाल भाजपा अध्यक्ष

पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को उत्तर प्रदेश और असम की तरह गोली मार दी जाएगी.

/
फाइल फोटो पीटीआई

पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को उत्तर प्रदेश और असम की तरह गोली मार दी जाएगी.

फाइल फोटो पीटीआई
फाइल फोटो पीटीआई

कोलकाताः पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को उत्तर प्रदेश और असम की तरह गोली मार दी जाएगी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, घोष ने रविवार को पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा क्योंकि उन्होंने पिछले साल दिसंबर में नागरिकता कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान रेलवे की संपत्ति और सार्वजनिक परिवहन को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ लाठीचार्ज या गोली चलाने का आदेश नहीं दिया था.

घोष ने कहा, ‘संपत्तियों का नुकसान हुआ. यह किसका पैसा था? यह मेरा पैसा है, यह आपका पैसा है. उन्होंने रेलगाड़ियों में आग लगा दी, किसका पैसा बर्बाद हुआ? अभी तक एक भी गोली नहीं चली. कोई लाठीचार्ज नहीं हुआ और कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई. पुलिस ने किसी को गिरफ्तार भी नहीं किया.’

उन्होंने कहा, ‘जो लोग सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान कर रहे हैं क्या यह उनके पिताजी की संपत्ति है? करदाताओं के पैसे से बनी सरकारी संपत्ति को वे कैसे नष्ट कर सकते हैं.’

घोष ने असम और उत्तर प्रदेश में हुई पुलिस फायरिंग का उल्लेख करते हुए कहा, ‘असम और उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार ने इन प्रदर्शनकारियों को कुत्तों की तरह मारा था. इन्हें गिरफ्तार किया गया और उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई.’

उन्होंने घुसपैठियों को लेकर कहा, ‘तुम यहां  आओगे, हमारा खाना खाओगे, यहां रहोगे और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाओगे. क्या यह तुम्हारी जमींदारी है? हम तुम्हें लाठियों से मारेंगे, गोली मारेंगे और तुम्हें जेल में डाल देंगे.’

घोष ने कहा, ‘दीदी (ममता बनर्जी) की पुलिस ने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की क्योंकि वह उनके मतदाता हैं. यूपी, असम और कर्नाटक की हमारी सरकारों ने ऐसे लोगों को कुत्तों की तरह गोली मार दी.’

बीते सप्ताह घोष ने पार्टी की रैली के दौरान एक एंबुलेंस को रास्ता नहीं देने दिया था. इस दौरान वह जिले के कृष्णनगर में रैली को संबोधित कर रहे थे.

इस घटना का वीडियो वायरल हो गया था, जिसमें घोष को एंबुलेंस के ड्राइवर से किसी और रास्ते से जाने को कहते सुना जा सकता है.

मालूम हो कि बीते कई दिनों से नागरिकता कानून के विरोध में देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. उत्तर प्रदेश में प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा में कई लोगों की मौत हो गई थी. वहीं, असम सहित देशभर में एनआरसी के विरोध में भी प्रदर्शन हो रहे हैं.

slot depo 5k slot ovo slot77 slot depo 5k mpo bocoran slot jarwo