भारत

लॉकडाउन: कार की चपेट में आने से पैदल बिहार जा रहे प्रवासी श्रमिक की अंबाला में मौत

इस समूह में चल रहे एक श्रमिक ने बताया कि करीब 12 लोगों ने दो दिन पहले लुधियाना से पैदल ही यात्रा शुरू की थी क्योंकि वे रेलवे की विशेष ट्रेन के लिए पंजीकरण नहीं करा पाए थे.

पैदल अपने घरों को लौट रहे प्रवासी मजदूर (फोटो: पीटीआई)

पैदल अपने घरों को लौट रहे प्रवासी मजदूर (फोटो: पीटीआई)

अंबाला: हरियाणा के अंबाला छावनी क्षेत्र के निकट मंगलवार को अंबाला-जगाधरी राजमार्ग पर एक कार की चपेट में आने से पैदल ही बिहार जा रहे एक श्रमिक की मौत हो गई, जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया.

प्रवासी श्रमिकों के एक समूह ने पुलिस को बताया कि वे सभी पंजाब के लुधियाना शहर से पैदल ही बिहार के पूर्णिया जिले में स्थित अपने घर की ओर जा रहे थे और इसी दौरान यह दुर्घटना हुई.

पुलिस ने बताया कि कार का चालक घटना के बाद कार समेत फरार हो गया. उन्होंने बताया कि उन्हें वाहन के बारे में जानकारी मिली है और चालक को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

उन्होंने बताया कि मृतक की पहचान 25 वर्षीय अशोक कुमार के रूप में हुई है, जबकि अन्य घायल श्रमिक को अंबाला छावनी के सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया है.

इस समूह में चल रहे एक श्रमिक ने बताया कि करीब 12 लोगों ने दो दिन पहले लुधियाना से पैदल ही यात्रा शुरू की थी क्योंकि वे रेलवे की विशेष ट्रेन के लिए पंजीकरण नहीं करा पाए थे.

दैनिक भास्कर के मुताबिक मृतक के साथी सुधीर कुमार मंडल ने बताया, ‘हमारे पास पैसे खत्म हो गए थे, इंतजार कर रहे थे कि कब लॉकडाउन खुलेगा और अपने घर जाएंगे. मेरे चार साथी पैसे खत्म हो जाने पर पैदल ही बिहार के पूर्णिया के लिए निकल गए थे. जगाधरी रोड पर अज्ञात वाहन ने दो को कुचल दिया. इसमें हमारे साथी अशोक की मौके पर मौत हो गई. दूसरा साथी पिंकू गंभीर रूप से घायल हो गया. हमारे दो साथी विजय और मनोज बच गए.’

 

बता दें कि लॉकडाउन की वजह से दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के पैदल या साइकिलों से अपने घर जाते हुए सड़क हादसों के शिकार होने की खबरें आ रही हैं. नौ मई को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से साइकिल में बिहार जा रहे एक मजदूर की लखनऊ में कार से टक्कर लगने के बाद मौत हो गई थी.

हाल ही में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से छत्तीसगढ़ अपने घर साइकिल से जा रहे मज़दूर और उनकी पत्नी की लखनऊ में सड़क हादसे में मौत हो गई थी. उनको एक अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी थी. हादसे में उनके दो बच्चे बच गए.

बीते 10 मई मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के पाठा गांव में ट्रक के अचानक पलट जाने से पांच मजदूरों की मौत हो गई, जबकि 13 अन्य घायल हो गए थे. सभी मजदूर आम से लदे इस ट्रक से तेलंगाना के हैदराबाद शहर से उत्तर प्रदेश में अपने घर जा रहे थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)