भारत

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10 हज़ार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं मिताली राज

दो दशक से अधिक समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहीं 38 वर्षीय मिताली राज ने दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ लखनऊ में तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान यह उपलब्धि हासिल की. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10 हज़ार रन पूरा करने वाली वह दूसरी महिला खिलाड़ी हैं. इससे पहले इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स ने यह उपलब्धि हासिल की थी.

मिताली राज. (फोटो साभार: फेसबुक)

मिताली राज. (फोटो साभार: फेसबुक)

लखनऊ: पिछले दो दशक से भी अधिक समय से भारतीय महिला क्रिकेट की कर्णधार रहीं मिताली राज बीते शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन पूरे करने वाली भारत की पहली और दुनिया की दूसरी महिला क्रिकेटर बन गई हैं.

दो दशक से अधिक समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहीं 38 साल की मिताली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लखनऊ में तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान 35वां रन पूरा करते ही यह उपलब्धि हासिल की. उनके नाम पर अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,001 रन दर्ज हैं और उनका औसत 46.73 है.

मिताली ने 10 टेस्ट मैचों में 663 रन बनाए हैं, जिसमें उनका बेस्ट स्कोर 214 रन है. 212 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उन्होंने 6,974 रन और 89 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने 2,361 रन बनाए हैं, जो कुल मिलाकर 10,001 रन होते हैं.

इस भारतीय बल्लेबाज से पहले इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स ने यह उपलब्धि हासिल की थी. उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करिअर में 309 मैचों में 10,273 रन बनाए.

जून 1999 में मिताली ने अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में आयरलैंड के खिलाफ पदार्पण किया था.

मिताली ने अपने करिअर में रिकार्ड 75 अर्धशतक और आठ शतक जमाए हैं. इनमें से 54 अर्धशतक और सात शतक उन्होंने वनडे में बनाए हैं. टेस्ट मैचों में उन्होंने एकमात्र शतक (214 रन) इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में टॉटन में बनाया था.

मिताली ने सितंबर 2019 में टी20 प्रारूप से संन्यास ले लिया था. इस प्रारूप में उन्होंने 17 अर्धशतक जमाए हैं, जिसमें उनका उच्चतम स्कोर नाबाद 97 है.

सचिन तेंदुलकर सहित दुनिया के कई क्रिकेटरों ने मिताली को इस उपलब्धि पर बधाई दी.

पूर्व भारतीय कप्तान तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन पूरे करने पर हार्दिक बधाई मिताली. शानदार उपलब्धि. मजबूती के साथ आगे बढ़ती रहो.’

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने भी मिताली को उनकी उपलब्धि पर बधाई दी थी.

बीसीसीआई ने ट्वीट किया, ‘क्या शानदार क्रिकेटर है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन पूरे करने वाली पहली भारतीय महिला बल्लेबाज. बधाई मिताली.’

अपना 311वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहीं मिताली ने भारत की तरफ से जून 1999 में वनडे के जरिये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था. उन्होंने अब तक 10 टेस्ट मैचों में 51.00 की औसत से 663 रन, वनडे में 212 मैचों में 50.53 की औसत से 6,974 और टी20 अंतरराष्ट्रीय में 89 मैचों में 37.52 की औसत से 2,364 रन बनाए हैं.

इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियंस ने भी महिला क्रिकेट की इस शीर्ष खिलाड़ी को बधाई दी.

पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि मिताली युवा खिलाड़ियों के लिये प्रेरणा है.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘10 हजार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनने पर बधाई मिताली. आप इस खेल की महान दूत और दिग्गज ही नहीं हो बल्कि आपने क्रिकेटरों की एक पीढ़ी को इस खेल को अपनाने के लिये प्रेरित किया. आप पर गर्व है.’

प्रासंगिक बने रखने के लिए अपने खेल पर काम करती रहती हूं: मिताली

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शुक्रवार को 10,000 रन पूरा करने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने कहा कि वह महिलाओं के खेल में लगातार हो रहे बदलाव में प्रासंगिक बने रहने के लिए अपने खेल को बेहतर करने पर ध्यान देती रहती है.

मिताली ने मैच के बाद कहा, ‘जब तक मुझे बल्लेबाजी करने का मौका मिलता है, तब तक इसे जारी रखना होगा. इससे महिलाओं के खेल में बदलते मानदंडों और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रासंगिक बने रहने के लिए मुझे अपने खेल पर काम करने का काफी अनुभव मिला है.’

एकदिवसीय टीम की इस कप्तान ने कहा कि उनके लिए व्यक्तिगत उपलब्धि से ज्यादा जरूरी लगातार अच्छा करना जारी रखना है.

उन्होंने कहा, ‘जब आप इतने लंबे समय तक खेलते है तो आप कई उपलब्धियां हासिल करते है. यह उसी में से एक है, मैं हमेशा बेहतर प्रदर्शन करने पर ध्यान देती हूं. अंतरराष्ट्रीय या घरेलू मैचों में जब भी मुझे बल्लेबाजी का मौका मिलता है तो मेरा ध्यान रन बनाने पर होता है.’

उन्होंने कहा, ‘मैं इस उपलब्धि के बारे में ज्यादा नहीं सोच रही हूं. मैं सिर्फ एक उपलब्धि के बारे में सोच रही है और वह है विश्व कप जीतना.’

लिजेल ली की करिअर की सर्वश्रेष्ठ नाबाद 132 रन पारी की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने बारिश से प्रभावित तीसरे महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में यहां भारत पर डकवर्थ लुईस पद्धति से छह रन से जीत दर्ज करके पांच मैचों की श्रृंखला में 2-1 से बढ़त बना ली है.

मिताली ने मैच में स्पिनरों के निराशाजनक प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उन्हें लगातार बेहतर प्रदर्शन करने पर ध्यान देना होगा लेकिन यह चिंता की कोई बात नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘उन्हें अपने प्रदर्शन पर काम करना होगा और यह चिंता की बात नहीं है. वे लय हासिल कर लेंगी.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)