भारत

महाराष्ट्र: जुलूस की अनुमति नहीं मिलने पर भीड़ का पुलिसकर्मियों पर हमला, 14 गिरफ़्तार

महाराष्ट्र के नांदेड़ में कोरोना वायरस महामारी के कारण जुलूस निकाले की अनुमति नहीं देने के बाद तलवारों से लैस सिखों की भीड़ ने सोमवार को पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया था. एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि घटना में कहीं गुरुद्वारा समिति के किसी सदस्य की भूमिका तो नहीं है.

महाराष्ट्र के नांदेड़ स्थित गुरुद्वारे पर भीड़ का पुलिसकर्मियों पर हमला. (फोटो: एएनआई)

महाराष्ट्र के नांदेड़ स्थित गुरुद्वारे पर भीड़ का पुलिसकर्मियों पर हमला. (फोटो: एएनआई)

मुंबई: महाराष्ट्र के नांदेड़ में कोरोना वायरस महामारी के कारण जुलूस निकाले की इजाजत नहीं देने के बाद तलवारों से लैस सिखों की भीड़ ने सोमवार को पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया, जिसमें कम से कम चार पुलिसकर्मी जख्मी हो गए. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी कि मामले में पुलिस ने 14 लोगों को गिरफ्तार किया है.

एक वायरल वीडियो में दिख रहा है कि तलवारें लिए लोगों की भीड़ गुरुद्वारे से बाहर निकली और पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड तोड़ दिए तथा पुलिसकर्मियों पर हमला किया. इस हिंसा में कई वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए.

नांदेड़ रेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) निसार तंबोली ने बताया, ‘महामारी के चलते होला मोहल्ला का जुलूस निकालने की इजाजत नहीं दी गई. गुरुद्वारा कमेटी को सूचित कर दिया गया था और उन्होंने हमें आश्वस्त किया था कि वे हमारे निर्देशों का पालन करेंगे और कार्यक्रम गुरुद्वारे परिसर के अंदर करेंगे.’

उन्होंने बताया, ‘हालांकि जब निशान साहिब को शाम 4 बजे द्वार पर लाया गया तो कई लोगों ने बहस शुरू कर दी और 300 से अधिक युवा दरवाजे से बाहर आ गए, बैरिकेड तोड़ दिए और पुलिसकर्मी पर हमला करना शुरू कर दिया.’

तंबोली ने कहा कि चार में से एक कांस्टेबल की हालत गंभीर है. उन्होंने बताया कि भीड़ ने पुलिस के छह वाहन भी क्षतिग्रस्त कर दिये.

नांदेड़ रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक निसार तम्बोली ने कहा, ‘हमने हत्या, दंगा और हथियार अधिनियम तथा अन्य धाराओं में अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार किया है. लगभग 64 लोगों के नाम प्राथमिकी में दर्ज हैं और अन्य की तलाश की जा रही है.’

वहीं, एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि घटना में कहीं गुरुद्वारा समिति के किसी सदस्य की भूमिका तो नहीं है.

रिपोर्ट के अनुसार, पिछले हफ्ते से ही महाराष्ट्र में कोविड-19 का तेजी से प्रसार देखा जा रहा है और इस पर लगाम लगाने के लिए राज्य सरकार ने कई प्रतिबंधों की भी घोषणा की है.

रविवार को राज्य सरकार ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए बड़ी सभाओं पर प्रतिबंध की घोषणा की. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कथित तौर पर अधिकारियों से लॉकडाउन की तैयारी करने को कहा था, क्योंकि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं.

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 31,643 कोविड संक्रमण के मामले सामने आए हैं और 102 लोगों की मौत हुई है. यह आंकड़ा एक दिन पहले के 40,414 संक्रमणों (अब तक की सबसे अधिक संख्या) से कम था. यह संभावना है कि यह कमी रविवार को होने वाले कम परीक्षणों को दर्शाती है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)