कोविड-19

घाटों पर सामाजिक दूरी का पालन मुश्किल, बन सकते हैं भगदड़ के हालातः हरिद्वार कुंभ मेला अधिकारी

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच उत्तराखंड के हरिद्वार में कुंभ मेला जारी है. रविवार को हरिद्वार में सर्वाधिक 401 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें साधु-संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सहित जूना अखाड़े के करमा गिरि और जूना अखाड़े के नितिन गिरि भी शामिल हैं.

हरिद्वार में लगा कुंभ मेला. (फोटो: रॉयटर्स)

हरिद्वार में लगा कुंभ मेला. (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच उत्तराखंड के हरिद्वार में जारी कुंभ मेले में सोमवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया. सोमवार को यहां पवित्र सोमवती अमावस्या का शाही स्नान शुरू हो गया. स्नान रविवार देर रात से ही शुरू हो गया था.

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार सुबह तक लगभग दो लाख सात हजार श्रद्धालुओं ने कुंभ मेले में स्नान किया.

हालांकि कुंभ मेले के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर भगदड़ जैसी स्थिति बनने की संभावना जताई जा रही है.

कुंभ मेले के पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल ने कहा कि कुंभ मेले के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना मुश्किल है और अगर यहां इसकी कोशिश की जाती है तो भगदड़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है.

उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, ‘हम लोगों से लगातार कोरोना नियमों का पालन करने की अपील कर रहे हैं, लेकिन अत्यधिक भीड़ होने की वजह से आज व्यावहारिक रूप से चालान काटना संभव नहीं है. घाटों पर सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करना बहुत मुश्किल है. अगर हम घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन कराने की कोशिश करेंगे तो भगदड़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है, इसलिए हम यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करा पाएंगे.’

गुंज्याल ने कहा, ‘आम जनता को यहां सात बजे से आने की अनुमति होगी. इसके बाद इस क्षेत्र को अखाड़ों के लिए आरक्षित किया जाएगा.’

अधिकारियों का कहना है कि कुंभ मेले और इसके आसपास विभिन्न स्थानों पर 350 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिनमें से लगभग 100 सेंसर्स युक्त हैं. अगर कैमरा किसी शख्स को बिना मास्क के कैप्चर करता है तो ये अलर्ट जेनरेट करते हैं. इन्हें हरिद्वार में कुंभ मेले में पहली बार लगाया जा रहा है.

इसके साथ ही उत्तराखंड पुलिस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का इस्तेमाल भी कर रही है, इसके जरिये मास्क नहीं पहन रहे लोगों को जूम इन करके देखा जा सकता है. हर की पौड़ी, सुभाष घाट, ब्रह्मकुंड और मालवीय द्वीप जैसे भगदड़ के लिहाज से संवेदनशील स्थानों पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से युक्त ये कैमरे अलर्ट जारी करते हैं.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष समेत आधा दर्जन से अधिक संत कोरोना संक्रमित

महाकुंभ में शिरकत करने के लिए देश के कोने-कोने से बड़ी संख्या में सभी अखाड़ों के साधु-संत हरिद्वार पहुंचे हैं. इस बीच रविवार को हरिद्वार में सर्वाधिक 401 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, हरिद्वार में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है. हरिद्वार में कुल 2,056 सक्रिय मामले सामने आए हैं. बीते चार अप्रैल को 173 मामले सामने आए थे और सक्रिय मामलों की संख्या 837 थी.

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इनमें साधु-संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सहित जूना अखाड़े के करमा गिरि और जूना अखाड़े के नितिन गिरि भी शामिल हैं.

नए मामलों को मिलाकर अब तक निरंजनी अखाड़े और जूना अखाड़े के कुल नौ संत कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

जूना, निरंजनी अखाड़े, बैरागी अखाड़ों के संतों के कोरोना पॉजिटिव होने से शाही स्नान में ये सभी प्रमुख संत शामिल नहीं हो पाएंगे लेकिन पिछले दिनों इन संतों के संपर्क में आए साधु संतों, राजनेताओ, आम लोगों और अधिकारियों में चिंता बढ़ गई है.

स्वास्थ्य विभाग कोरोना पॉजिटिव संतों के संपर्क में आए लोगों की ट्रेसिंग कर रहा है.