कोविड-19

कोविड-19 टीकों की कमी के चलते ‘टीका उत्सव’ मनाने में सक्षम नहीं: ओडिशा

ओडिशा सरकार ने केंद्र से अपील की है कि तत्काल राज्य को कम से कम 25 लाख कोविड-19 रोधी टीके की खुराकों की आपूर्ति की जाए. ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार, तीन अप्रैल तक राज्य में 1,476 टीकाकरण केंद्र संचालित किए जा रहे थे लेकिन टीकों की कमी के कारण लगभग 700 केंद्रों को बंद करना पड़ा है.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

भुवनेश्वर: ओडिशा सरकार ने सोमवार को केंद्र सरकार से अपील की है कि वह तत्काल राज्य को कम से कम 25 लाख कोविड-19 रोधी टीके की खुराकों की आपूर्ति करें.

राज्य सरकार का कहना है कि राज्य टीकों की ‘कम और अनिश्चित’ आपूर्ति की वजह से ‘टीका-उत्सव’ का उचित तरीक़े से आयोजन करने में सक्षम नहीं है.

ओडिशा के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एनके दास ने यह बयान दिया है. उन्होंने सात दिन के भीतर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को दूसरी बार पत्र लिखा है.

वर्धन को लिखे एक पत्र में दास ने कहा, ‘कोविड-19 रोधी टीके की बेहद कम और अनियमित आपूर्ति की वजह से राज्य उचित तरीके से टीका उत्सव का आयोजन करने में सक्षम नहीं हैं.’

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोमवार को राज्य में 1,40,061 लोगों को 824 टीकाकरण केंद्रों पर टीके की खुराक दी गई.

स्वास्थ्य कर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले कर्मी, वरिष्ठ नागरिक और 45 साल से ज़्यादा उम्र के लोगों को टीके की खुराक देने के लिए 1,400 से अधिक सत्र स्थलों पर टीकाकरण अभियान चलाया गया था. रविवार को इनमें से 900 केंद्र टीके की अनुपलब्धता की वजह से बंद रहे थे.

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, ओडिशा के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री नाबा किशोर दास ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को दूसरी बार पत्र लिखकर केंद्र से राज्य को 25 लाख वैक्सीन की आपूर्ति करने का अनुरोध किया.

ओडिशा को सोमवार को कोविशिल्ड वैक्सीन की 2.71 लाख खुराक मिली. हालांकि, दास ने अपने पत्र में केंद्रीय मंत्री को अवगत कराया कि टीका का ताजा स्टॉक केवल एक दिन तक चलेगा. उन्होंने कहा कि राज्य में कोवैक्सीन की केवल 71,010 खुराकें बची हैं.

दास ने कहा कि 3 अप्रैल तक ओडिशा 1,476 टीकाकरण केंद्र संचालित किए जा रहे थे और एक दिन में लगभग 2.71 लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाता था. हालांकि, टीकों की कमी ने स्वास्थ्य विभाग को लगभग 700 टीका केंद्रों को बंद करने के लिए मजबूर कर दिया है.

दास ने कहा, ‘हमारा दैनिक टीकाकरण लगभग 1 लाख तक कम हो गया है, जबकि हमारे पास एक दिन में 3 लाख लाभार्थियों को टीका लगाने की क्षमता है.’

दास ने हर्षवर्धन से अनुरोध किया कि वे आपातकालीन उपायों के रूप में कम से कम 10 दिनों के लिए टीकों की आपूर्ति सुनिश्चित करें ताकि राज्य को टीकाकरण केंद्रों को सुचारू ढंग से चलाने और चल रहे टीकाकरण अभियान को प्रभावी बनाने में मदद मिल सके.

बता दें कि इससे पहले बीते आठ अप्रैल को ओडिशा के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अवर मुख्य सचिव पीके महापात्रा ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर राज्य में टीकाकरण सुचारू ढंग से चलाने के लिए कोविशील्ड की 15-20 लाख खुराक देने का अनुरोध किया था.

इसके अलावा महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना ने राज्य में वैक्सीन की कमी की शिकायत की थी. हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा था कि टीकों की कमी के आरोप पूरी तरह निराधार हैं. केंद्र किसी भी राज्य को वैक्सीन की कमी का सामना नहीं करने देगा.

(समाचार एजेंसी भाषा से  इनपुट के साथ)