कोविड-19

गुजरात सरकार ने भाजपा शासित राज्यों को रेमडेसिविर की आपूर्ति की ख़बरों से इनकार किया

गुजरात सरकार ने कहा है कि उनके द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन अन्य भाजपा शासित राज्यों में भेजे जाने की मीडिया रिपोर्ट पूरी तरह से निराधार और असत्य हैं. हालांकि ख़बरों के अनुसार, यूपी सरकार ने रेमडेसिविर की 25,000 खुराक लाने के लिए एक सरकारी विमान अहमदाबाद भेजा था, जो बुधवार शाम लखनऊ पहुंचा.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

वडोदरा: गुजरात सरकार ने बुधवार को कहा कि उसने सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड-19 रोगियों और राज्य में गंभीर लक्षणों वाले रोगियों को प्रतिदिन एंटीवायरल दवा रेमडेसिविर के लगभग 25,000 इंजेक्शन उपलब्ध कराए हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, यह बयान तब आया है जब उत्तर प्रदेश सरकार ने गुजरात से रेमडेसिविर की 25,000 खुराक लाने के लिए एक सरकारी विमान अहमदाबाद भेजा था.

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि यह खेप बुधवार शाम तक लखनऊ पहुंच गया.

इस बीच, गुजरात सरकार ने इस बात से इनकार किया है कि राज्य अन्य भाजपा शासित राज्यों में दवा का स्टॉक भेज रहा है और उसने ऐसी मीडिया रिपोर्टों को आधारहीन और असत्य बताया है.

राज्य सरकार की ओर से बुधवार को जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘कुछ मीडिया में आज की रिपोर्ट में कहा गया है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन गुजरात से अन्य भाजपा शासित राज्यों में भेजा जाएगा… ये रिपोर्ट पूरी तरह से निराधार और असत्य हैं.’

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल, जो स्वास्थ्य विभाग भी संभालते हैं ने कहा, ‘यह (उत्तर प्रदेश को भेजा गया इंजेक्शन ) किसी निर्माता या आपूर्तिकर्ता (यहां अहमदाबाद में) के साथ कुछ निविदा के आधार पर होना चाहिए. (रेमडेसिविर मैन्युफैक्चरिंग) कंपनी ने दिया होगा, गुजरात सरकार ने नहीं दिया है. हम इसे किसी को नहीं दे रहे हैं. प्रत्येक दिन सरकारी स्टॉक (गुजरात मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड के माध्यम से खरीद) को लगभग 20,000 इकाइयों की आपूर्ति की जाती है. यह ओपन मार्केट स्टॉक से अलग है.’

इस बीच, शनिवार से मुफ्त रेमडेसिविर इंजेक्शन वितरित कर रहे सूरत स्थित भाजपा कार्यालय ने स्टॉक की कमी के बाद आपूर्ति रोक दी.

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल ने जाइडस कैडिला से प्राप्त 5,000 खुराक वितरित करने का वादा किया था, लेकिन पार्टी ने सोमवार तक 3,000 खुराक वितरित किए थे.

सूरत में भाजपा कार्यालय के बाहर एक बोर्ड में कहा गया है, ‘स्टॉक आज नहीं आया है, इसलिए किसी को भी पार्टी कार्यालय में भीड़ नहीं लगानी चाहिए.’

बता दें कि अहमदाबाद में ही जाइडस कैडिला जेनेरिक रेमडैक का विनिर्माण संयंत्र है.

शनिवार और रविवार को भाजपा के सूत्रों ने कहा, ‘1,800 रेमडेसिविर की खुराकें वितरित की गईं और नवसारी भाजपा कार्यालय से इन प्रत्येक दिनों पर 100 खुराक वितरित किए गए थे.’

सूरत शहर में भाजपा के महासचिव किशोर बिंदल ने कहा, ‘हमने तीन दिनों तक रेमडेसिविर इंजेक्शन वितरित किए हैं. भाजपा के सूरत और नवसारी कार्यालयों से कुल 3,000 ऐसे इंजेक्शन वितरित किए गए. राजनीतिक दलों द्वारा विवाद शुरू करने के बाद कंपनी ने पार्टी कार्यालय को इंजेक्शन की आपूर्ति बंद कर दी थी. हमने मंगलवार को इसका वितरण रोक दिया है.’

इस बीच, अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने बुधवार को एक बयान दिया कि नगर निकाय ने निजी अस्पतालों के दैनिक उपयोग के लिए 10,000 रेमडेसिविर इंजेक्शन का इंतजाम किया है.

वर्तमान में एएमसी में 152 निजी अस्पताल हैं, जिनमें कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए कुल 5,903 बेड की व्यवस्था है. इसके अलावा, कोविड-19 रोगियों के लिए 13,142 बेड की कुल क्षमता के साथ कुल 11 सरकारी अस्पताल, 103 नर्सिंग होम और 21 कोविड केयर केंद्र हैं.

गुजरात सरकार ने निजी कोविड-19 नामित अस्पतालों को एक विस्तृत इंडेंट फॉर्म में इंजेक्शन की आपूर्ति करने के लिए गुजरात भर में नौ अस्पतालों को अधिकृत किया है.

अहमदाबाद शहर के लिए ऐसे निजी अस्पताल एएमसी द्वारा संचालित एसवीपी अस्पताल से समान खरीद सकते हैं. अहमदाबाद में दो अन्य प्राथमिक अस्पताल- अहमदाबाद सिविल अस्पताल और गुजरात मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सोसाइटी (जीएमईआरएस), सोला- केवल अपने यहां भर्ती मरीजों को दवा दे रहे हैं.

एएमसी के अनुसार, 1 से 13 अप्रैल तक राज्य भर में 4 लाख से अधिक रेमडेसिविर इंजेक्शन वितरित किए गए हैं और शहर में नामित अस्पतालों में कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों को कुल 24,962 खुराकें दी गईं.