कोविड-19: बीते 24 घंटे में सर्वाधिक 261,500 नए मामले दर्ज और रिकॉर्ड 1,501 लोगों की मौत

भारत में लगातार 14 अप्रैल के बाद चौथे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के दो लाख से अधिक दैनिक मामले दर्ज किए गए हैं. देश में कुल मामलों की संख्या 1.47 लाख से अधिक हो गई है और मरने वालों की संख्या बढ़कर 1.77 लाख से अधिक हो गई है. विश्व में संक्रमण के 14.07 करोड़ से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं और 30.11 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

///
(फोटो: पीटीआई)

भारत में लगातार 14 अप्रैल के बाद चौथे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के दो लाख से अधिक दैनिक मामले दर्ज किए गए हैं. देश में कुल मामलों की संख्या 1.47 लाख से अधिक हो गई है और मरने वालों की संख्या बढ़कर 1.77 लाख से अधिक हो गई है. विश्व में संक्रमण के 14.07 करोड़ से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं और 30.11 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

(फोटो: पीटीआई)
(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के एक बार फिर सर्वाधिक मामले दर्ज किए गए हैं. 14 अप्रैल से यह लगातार चौथा दिन में जब बीते एक दिन में नए मामलों की संख्या रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए.

बीते एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 261,500 नए मामले सामने आने के साथ कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 14,788,109 पर पहुंच गए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक उपचाराधीन मामले 18 लाख के पार पहुंच गए हैं.

मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में 1,501 और संक्रमितों की मौत होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 177,150 पर पहुंच गई. इस अवधि में मरने वालों का यह सर्वाधिक आंकड़ा है. इससे एक दिन पहले शनिवार को ही रिकॉर्ड 1341 लोगों की मौत हुई थी.

आंकड़ों पर गौर करें तो देश में 15 अप्रैल से लगातार चौथे दिन संक्रमण के दो लाख से अधिक दैनिक मामले सामने आए हैं. 11 अप्रैल के बाद यह लगातार आठवां दिन है, जब देश में एक दिन में 1.5 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं. इसके अलावा सात अप्रैल के बाद यह लगातार 12वां दिन है, जब एक लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं.

संक्रमण के मामलों में लगातार 39वें दिन वृद्धि हुई है. देश में उपचाराधीन मरीजों यानी सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 1,801,316 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 12.18 प्रतिशत है, जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 86.62 प्रतिशत रह गई है.

आंकड़ों के मुताबिक, इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 12,809,643 हो गई है और मृत्यु दर गिरकर 1.20 प्रतिशत हो गई है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक, 17 अप्रैल तक 266,538,416 नमूनों की जांच की जा चुकी है, जिनमें से 1,566,394 नमूनों की जांच शनिवार को की गई.

बीते 24 घंटे में जिन 1,501 संक्रमितों की मौत हुई, उनमें 419 महाराष्ट्र से, 167 दिल्ली से, 158 छत्तीसगढ़ से, 120 उत्तर प्रदेश से, 97 गुजरात से, 80 कर्नाटक से, 66 मध्य प्रदेश से, 62 पंजाब से और 39 संक्रमित तमिलनाडु से थे.

कोरोना वायरस के कारण बीते 24 घंटे में राजस्थान और उत्तराखंड में 37-37 लोगों की मौत हुई, बिहार और पश्चिम बंगाल में 34-34 की, हरियाणा में 32 की, झारखंड में 30 की, केरल में 27 की, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में 15-15 संक्रमितों की और हिमाचल प्रदेश में 12 लोगों की मौत हुई.

मंत्रालय की ओर से बताया गया कि कोरोना वायरस के कारण मरने वाले कुल 177,150 लोगों में से 59,970 महाराष्ट्र से थे, 13,270 कर्नाटक से, 13,071 तमिलनाडु से, 11,960 दिल्ली से, 10,540 पश्चिम बंगाल से, 9,703 उत्तर प्रदेश से, 7,834 पंजाब से और 7,388 आंध्र प्रदेश से थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मरने वाले 70 फीसदी से अधिक लोग अन्य रोगों से पीड़ित थे.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (सात अगस्त को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त को) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (पांच सितंबर) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर को) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर को) होने में 29 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो 17 अप्रैल को 234,692, 16 अप्रैल को 217,353, 15 अप्रैल को 200,739, 14 अप्रैल को 184,372, 13 अप्रैल को 161,736, 12 मार्च को 168,912, 11 अप्रैल को 152,879, 10 अप्रैल को 145,384, नौ अप्रैल को 131,968, आठ अप्रैल को 126,789, सात अप्रैल को 115,736, छह अप्रैल को 96,982, पांच अप्रैल को 103,558, चार अप्रैल को 93,249, तीन अप्रैल को 89,129, दो अप्रैल को 81,466 और एक अप्रैल को 72,330 नए मामले सामने आए थे.

इसी तरह 24 घंटे में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 17 अप्रैल 1,341, 16 अप्रैल को 1,185, 15 अप्रैल को 1,038, 14 अप्रैल को 1,027, 13 अप्रैल 879, 12 मार्च को 904, 11 अप्रैल को 839, 10 अप्रैल को 794, नौ अप्रैल को 780, आठ अप्रैल को 685, सात अप्रैल को 630, छह अप्रैल को 446, पांच अप्रैल को 478, चार अप्रैल को 513, तीन अप्रैल को 714, दो अप्रैल को 469 और एक अप्रैल को 459 रही थी.

मार्च में 24 घंटे के दौरान सर्वाधिक 68,020 मामले 29 मार्च को सामने आए थे और महामारी से जान गंवाने वाले लोगों की सर्वाधिक संख्या 31 मार्च को दर्ज की गई. इस दिन 354 लोगों की मौत हुई थी, जो साल 2021 की पहली तिमाही (जनवरी से मार्च) का सर्वाधिक आंकड़ा है.

फरवरी माह में 24 घंटे में संक्रमण के सर्वाधिक 16738 मामले 25 फरवरी को सामने आए थे और इस महीने सर्वाधिक 138 लोगों की मौतें भी इसी तारीख में दर्ज है.

जनवरी में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के सर्वाधिक 20,346 मामले बीते सात जनवरी को दर्ज किए गए थे. वहीं इस अवधि में सबसे अधिक 264 लोगों की मौत छह जनवरी को हुई थी.

इससे पहले दिसंबर महीने में 24 घंटे के दौरान पांच दिसंबर को संक्रमण के अधिकतम 36,652 मामले सामने आए थे और चार दिसंबर को संक्रमण से अधिकतम 540 लोगों की मौत हुई थी.

नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का दूसरा सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 14.07 करोड़ से ज़्यादा, 30.11 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 140,735,224 हो गए हैं और अब तक 3,011,043 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में महामारी से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 31,628,017 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 566,904 हो चुकी है.

संक्रमण से दूसरा प्रभावित देश भारत है. भारत के बाद तीसरे संक्रमण प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 13,900,091 मामले मिले हैं और 371,678 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद चौथे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 5,321,176 मामले आए हैं और 100,752 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश रूस में संक्रमण के 4,640,537 मामले (शनिवार तक) आए हैं, जबकि 103,451 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

रूस के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 4,401,176 मामले आए हैं, जबकि 127,508 मरीजों की मौत के मामले सामने आए हैं.

ब्रिटेन बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 4,212,645 मामले सामने आए हैं और 35,608 मौतें हुई हैं. तुर्की के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण 3,857,443 मामले दर्ज हुए हैं जबकि 116,673 मौतें हुई हैं.

इटली के बाद नौवें प्रभावित देश स्पेन में संक्रमण के 3,407,283 मामले (शनिवार तक) सामने आए हैं और 76,981 मौतें हुई हैं. स्पेन के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 3,154,480 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 79,972 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

pkv games bandarqq dominoqq pkv games parlay judi bola bandarqq pkv games slot77 poker qq dominoqq slot depo 5k slot depo 10k bonus new member judi bola euro ayahqq bandarqq poker qq pkv games poker qq dominoqq bandarqq bandarqq dominoqq pkv games poker qq slot77 sakong pkv games bandarqq gaple dominoqq slot77 slot depo 5k pkv games bandarqq dominoqq depo 25 bonus 25 bandarqq dominoqq pkv games slot depo 10k depo 50 bonus 50 pkv games bandarqq dominoqq slot77 pkv games bandarqq dominoqq slot bonus 100 slot depo 5k pkv games poker qq bandarqq dominoqq depo 50 bonus 50 pkv games bandarqq dominoqq