भारत

बंगाल: रेप की कोशिश का केस वापस लेने के दबाव के बाद ख़ुद को आग लगाने वाली लड़की की मौत

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी ज़िले का मामला. बलात्कार की कोशिश की शिकायत दर्ज कराने के बाद 14 वर्षीय लड़की को बलात्कार और परिवार की हत्या करने की धमकी दी गई थी. लड़की के परिजन ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है. वहीं, नादिया ज़िले के हंसखली गैंगरेप मामले में सीबीआई ने तीन और आरोपियों को गिरफ़्तार किया है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

जलपाईगुड़ी/हंसखली: पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में कथित तौर पर बलात्कार के प्रयास मामले में दर्ज कराई गई शिकायत को वापस लेने के दबाव के चलते खुद को आग के हवाले करने वाली 14 वर्षीय लड़की की सोमवार को मौत हो गई. आत्मदाह से लड़की गंभीर रूप से झुलस गई थी.

लड़की के परिजन ने मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग की है.

मामले के अनुसार, एक व्यक्ति ने कथित तौर पर 28 फरवरी को उस वक्त लड़की के साथ बलात्कार करने की कोशिश की जब वह मायनागुड़ी पुलिस थाना क्षेत्र में स्थित अपने घर पर अकेली थी, लेकिन लड़की के शोर मचाने पर व्यक्ति फरार हो गया था.

लड़की के परिजन ने मामले की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन बाद में उसे जमानत मिल गई थी.

इस घटना के बाद दो नकाबपोश 13 अप्रैल को लड़की के घर पहुंचे, उस वक्त वह घर पर अकेली थी और उन्होंने उससे शिकायत वापस लेने, अन्यथा उसका बलात्कार करने और पूरे परिवार की हत्या करने की धमकी दी थी.

इस धमकी से भयभीत लड़की ने अगले दिन खुद को आग लगा ली है, उसे जलपाईगुड़ी अस्पताल ले जाया गया, बाद में उसे नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई.

एनबीएमसीएच के प्राचार्य डॉ इंद्रजीत साहा ने कहा, ‘हमने मेडिकल बोर्ड का गठन किया था और उसकी विशेष देखभाल की जा रही थी, लेकिन वह 60 प्रतिशत से अधिक जल गई थी और संक्रमण तेजी से फैला. हमने उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन सोमवार सुबह पांच बजे के करीब उसकी मौत हो गई.’

जलपाईगुड़ी के पुलिस अधीक्षक देवर्षि दत्ता ने बताया कि मामले के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. लड़की के परिजन ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.

हंसखली सामूहिक बलात्कार मामले में सीबीआई ने तीन और आरोपियों को गिरफ्तार किया

इस बीच सीबीआई ने पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के हंसखली में 14 वर्षीय लड़की के कथित सामूहिक बलात्कार और मौत मामले में रविवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया.

एक सीबीआई अधिकारी ने कहा कि जांच के दौरान घटना में उनकी संलिप्तता स्पष्ट होने पर तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया.

सीबीआई ने इस मामले में पहले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था, जबकि कलकत्ता उच्च न्यायालय के निर्देश पर जांच अपने हाथ में लेने के बाद राज्य पुलिस ने दो और लोगों को हिरासत में लिया था.

चार अप्रैल को तृणमूल कांग्रेस के एक स्थानीय नेता के घर में जन्मदिन की पार्टी में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के बाद कक्षा नौ की छात्रा की मौत हो गई थी.

इस मामले का मुख्य आरोपी तृणमूल के एक स्थानीय नेता का बेटा है.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की इस मामले पर संवेदनहीन टिप्पणी को लेकर विवाद हो गया था. बनर्जी ने घटना पर सवाल उठाते हुए कहा था कि क्या 14 वर्षीय कथित हत्या और सामूहिक बलात्कार पीड़िता का वास्तव में बलात्कार हुआ था या क्या वह गर्भवती थी या उसका ‘प्रेम संबंध’ था.

माकपा और कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने बनर्जी के बयान को ‘चौंकाने वाला’ बताया था और आरोप लगाया था कि वह आरोपी को बचाने की कोशिश कर रही हैं, क्योंकि वह उनकी पार्टी के एक नेता का बेटा है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)