भारत

चलती कार में महिला और उसकी छह साल की बेटी से सामूहिक बलात्कार: उत्तराखंड पुलिस

उत्तराखंड में हरिद्वार ज़िले के रुड़की का मामला. आरोपी लिफ्ट देकर चलती कार में छह साल की बच्ची और उसकी मां से सामूहिक बलात्कार के बाद उन्हें गंग नहर किनारे कांवड पटरी पर छोड़कर चले गए. मेडिकल जांच में दोनों के साथ बलात्कार की पुष्टि हुई है. पुलिस ने एक नामज़द आरोपी सहित अन्य पर मुक़दमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

रुड़की: उत्तराखंड में हरिद्वार जिले के ​रुड़की में चलती कार में छह साल की मासूम बच्ची और उसकी मां से कथित सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है. पुलिस ने एक नामजद आरोपी सहित अन्य पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

पुलिस के अनुसार, रुड़की के पास मुस्लिम तीर्थस्थल पिरान कलियर से एक महिला अपनी छह साल की बेटी के साथ रात के वक्त रुड़की जा रही थी. पुलिस अधीक्षक (देहात) प्रमेंद्र डोभाल के अनुसार, रास्ते में एक कार सवार युवक ने उन्हें लिफ्ट देने के बहाने अपनी कार में बैठा लिया.

डोभाल ने बताया कि कार में कुछ अन्य युवक पहले से बैठे हुए थे. शिकायत के मताबिक, कार सवार सोनू नाम के युवक और उसके साथियों ने मां-बेटी के साथ चलती कार मे ही बलात्कार किया. महिला युवकों का विरोध करती रही मगर युवकों ने उन्हें धमकी देकर चुप करा दिया और बलात्कार के बाद उन्हें गंग नहर किनारे कांवड पटरी पर छोड़कर चले गए.

महिला आधी रात को किसी तरह से कोतवाली पहुंचीं और पुलिस को आप बीती सुनाई. पुलिस को दी जानकारी में पीड़िता कार सवार युवकों की संख्या तो नहीं बता पाई, मगर उन्होंने कार चालक युवक का नाम सोनू बताया.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि घटना शुक्रवार (24 जून) रात की है, जब छह साल की बच्ची और उनकी मां रिक्शे से पिरान कलियर से रुड़की जा रहे थे.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में उन्होंने कलियर-रुड़की मार्ग पर एक कार में अन्य लोगों के साथ जा रहे एक परिचित व्यक्ति से लिफ्ट ली.

घटना रात करीब 10:30 बजे हुई और एक घंटे बाद पुलिस को सूचना दी गई. एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि लड़की की मां भीख मांगकर आजीविका चलाती हैं और एक आश्रय गृह में रहती हैं.

बच्ची की खराब हालत को देखते हुए पुलिस ने दोनों को रुड़की सिविल अस्पताल में भर्ती कराया. अस्पताल में मेडिकल जांच में दोनों के साथ बलात्कार की पुष्टि हुई है.

पुलिस ने बलात्कार का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. अभी तक आरोपियों का कोई पता नहीं चला है.

डोभाल ने कहा कि लड़की की मां की शिकायत के आधार पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (बलात्कार) और यौन अपराधों के खिलाफ बच्चों के संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत रुड़की के सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है.

हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक योगेंद्र सिंह रावत ने कहा कि लड़की की मां सदमे की स्थिति में हैं और अपराध में शामिल आरोपियों की संख्या का खुलासा नहीं कर सकती हैं.

अमर उजाला के मुताबिक, पुलिस अधीक्षक (देहात) प्रमेंद्र डोभाल ने कहा, ‘कई संदिग्धों से पूछताछ चल रही है. कुछ अहम सुराग भी मिले हैं. रुड़की निवासी सोनू के खिलाफ इनाम घोषित करने की तैयारी चल रही है. सूचना देने वाले की पहचान भी गुप्त रखी जाएगी.’

रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची की हालत गंभीर है. सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि बच्ची की शुक्रवार रात में सर्जरी की गई थी. शनिवार (25 जून) को भी एक सर्जरी की गई है. मासूम की निगरानी के लिए डॉक्टरों की टीम लगाई गई है. बच्ची की हालत में अभी कुछ सुधार है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)