राजनीति

बिहार: नीतीश ने आठवीं बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने उपमुख्यमंत्री

जदयू नेता नीतीश कुमार ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वे 2014 में जीत गए, लेकिन अब 2024 को लेकर उन्हें चिंतित होना चाहिए. वहीं, भाजपा ने कहा है कि नई सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी.

शपथ ग्रहण करने के बाद नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव. (फोटो: पीटीआई)

पटना: मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ एनडीए गठबंधन तोड़ने और अपने पद से इस्तीफा देने के बाद, बुधवार (10 अगस्त) को उन्होंने विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ महागठबंधन सरकार के मुखिया के तौर पर फिर से मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.  उनके साथ राजद के तेजस्वी यादव ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, जनता दल (यूनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘वे 2014 में जी गए, लेकिन अब 2024 को लेकर उन्हें चिंतित होना चाहिए.’

उन्होंने कहा, ‘जो 2014 में सत्ता में आए, क्या वे 2014 में भी जीतेंगे? मैं 2024 में सभी (विपक्षी दलों) को एकजुट देखना चाहूंगा. मैं ऐसे किसी पद (प्रधानमंत्री) की दौर में नहीं हूं.’

नई सरकार जल्द गिरने संबंधी भाजपा के दावे पर नीतीश ने कहा कि बिहार में नई सरकार बेहतर ढंग से चलेगी.

गौरतलब है कि भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने दावा किया है कि बिहार की नई सरकार 2025 में अपना कार्यकाल पूरा करने से पहले ही गिर जाएगी.

मोदी ने यह भी कहा है कि जदयू प्रमुख नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को वोट देने वाली बिहार की जनता का अपमान किया है.

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री मोदी ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि नीतीश लालू प्रसाद यादव की खराब तबीयत का फायदा उठाकर राजद को धोखा देंगे और उसे तोड़ने की कोशिश करेंगे.

उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के जरिये ‘षड्यंत्र’ रचे जाने के जदयू के आरोपों को खारिज कर दिया और दावा किया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नीतीश कुमार से मंजूरी लेने के बाद सिंह को मंत्रिमंडल में शामिल किया था.

भाजपा नेता ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘हम यह देखना चाहते हैं कि असली मुख्यमंत्री (राजद नेता) तेजस्वी के नेतृत्व में बिहार की नई सरकार किस तरह काम करती है. यह अगले चुनाव से पहले गिर जाएगी.’

बहरहाल, नीतीश ने कहा है, ‘पार्टी ने एकजुटता से (भाजपा छोड़ने का) फैसला लिया… चाहे मैं रहूं या न रहूं (2024) तक… वे जो चाहे कह सकते हैं, लेकिन मैं 2014 में नहीं रहूंगा.’

(समाचार एजेंंसी भाषा से इनपुट के साथ)