भारत

हिंदुत्ववादी समूह की शिकायत के बाद मुनव्वर फ़ारूक़ी का बेंगलुरु में एक और शो रद्द

‘जय श्री राम सेना’ नाम के संगठन ने आरोप लगाया था कि स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी ने अपने कार्यक्रमों में भगवान राम एवं देवी सीता के ख़िलाफ़ अपमानजनक टिप्पणियां करके हिंदुओं की भावनाओं को आहत किया है. नवंबर 2021 में भी फ़ारूक़ी के बेंगलुरु में होने वाले एक शो को रद्द किया गया था.

मुनव्वर फ़ारूक़ी. (फोटो साभार: Munawar Faruqui/Instagram)

बेंगलुरु: कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु की पुलिस ने स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के शनिवार को होने वाले कार्यक्रम ‘डोंगरी टू नोह्वेयर’ के आयोजन की अनुमति देने से एक बार फिर इनकार कर दिया.

पुलिस ने बताया कि कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है, क्योंकि आयोजकों ने शहर में इसके आयोजन की अनुमति नहीं ली थी.

‘जय श्री राम सेना’ संगठन ने बेंगलुरु पुलिस आयुक्त सीएच प्रताप रेड्डी के पास स्टैंड-अप कॉमेडियन फारूकी एवं आयोजकों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी.

संगठन ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि फारूकी ने अपने कार्यक्रमों में भगवान राम एवं देवी सीता के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां करके हिंदुओं की भावनाओं को आहत किया है.

नवंबर 2021 में भी मुनव्वर फारूकी के बेंगलुरु शो को रद्द किया गया था और तब उनका शो रद्द करवाने के लिए दबाव डालने पर बेंगलुरु पुलिस की खासी आलोचना हुई थी.

हैदराबाद शो के लिए भी मिली थी धमकी 

बीते शुक्रवार (19 अगस्त) को तेलंगाना में भाजपा विधायक टी. राजा सिंह को हैदराबाद में पुलिस ने एहतियातन हिरासत में तब ले लिया था, जब वह फारूकी के एक कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे थे. सिंह ने वायरल हुए एक वीडियो में माधापुर में कार्यक्रम स्थल को नुकसान पहुंचाने की कथित तौर पर धमकी दी थी.

फारूकी का शो शनिवार के लिए निर्धारित था और कॉमेडियन ने इंस्टाग्राम पर कहा था कि यह कार्यक्रम के अनुसार जारी रहेगा. फारूकी के कार्यक्रम का विरोध करने शनिवार शाम कार्यक्रम स्थल पहुंचे कम से कम 50 लोगों को एहतियातन हिरासत में ले लिया गया. हालांकि, उनका कार्यक्रम शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया.

हैदराबाद के गोशामहल से विधायक टी. राजा सिंह अपने मजबूत हिंदुत्व विचारों के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने सत्तारूढ़ टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष और राज्य मंत्री केटी रामा राव द्वारा कथित तौर पर फारूकी को निमंत्रण देने पर आपत्ति जताई थी.

साल 2021 में फ़ारूक़ी के कई शो हुए थे रद्द

मालूम हो कि जनवरी 2021 में स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी पर मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में भाजपा विधायक मालिनी लक्ष्मण सिंह गौर के बेटे एकलव्य सिंह गौर की शिकायत के बाद धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगा था.

एक जनवरी 2021 को इंदौर पुलिस ने फारूकी और पांच अन्य- नलिन यादव, एडविन एंथनी, प्रखर व्यास, प्रियम व्यास और नलिन यादव को गिरफ्तार किया था.

भाजपा नेता के बेटे ने दावा किया था कि उन्होंने इंदौर में फारूकी को उनके शो की रिहर्सल के दौरान हिंदू देवताओं और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बारे में कथित तौर पर अभद्र बातें करते सुना था, लेकिन अपने इस दावे को लेकर वह कोई साक्ष्य पेश नहीं कर सके थे.

इस मामले में फारूकी और अन्य को एक महीने तक जेल में रहना पड़ा था और फरवरी 2021 में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी थी.

इससे पहले मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने उनकी जमानत याचिकाएं दो बार यह कहकर खारिज कर दी थी कि इस तरह के लोगों को बख्शा नहीं जाना चाहिए.

फारूकी के जेल जाने को लेकर न्याय से भटकना, उनके बुनियादी अधिकारों का हनन और उनकी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को रौंदने के तौर पर व्यापक निंदा की गई थी. यहां तक कि अन्य देशों में भी इसे लेकर रोष देखने को मिला था.

अक्टूबर 2021 में मुंबई में फारूकी के दो शो बजरंग दल के सदस्यों द्वारा आयोजन स्थल को नुकसान पहुंचाने की धमकियों के बाद रद्द कर दिए गए थे.

नवंबर 2021 में छत्तीसगढ़ में विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल द्वारा स्थानीय प्रशासन को शो के लिए मंजूरी दिए जाने पर प्रदर्शन की धमकियों के बाद उनके शो रद्द कर दिए गए थे.

नवंबर 2021 के मध्य में दक्षिणपंथी समूहों की धमकियों के बाद फारूकी के गोवा में होने वाले दो सोल्ड-आउट शो रद्द कर दिए गए थे. दरअसल इन दक्षिणपंथी समूहों ने धमकी दी थी कि अगर ये शो आयोजित किए जाते हैं तो वे खुद को आग लगा लेंगे.

17 से 19 दिसंबर 2021 को गुड़गांव में होने वाले कॉमेडी शो से मुनव्वर फारूकी को हटा दिया गया था. शो के आयोजकों का कहना था कि उन्हें शो में बाधा पहुंचाने वाले धमकी भरे फोन कॉल आ रहे थे, जिसके बाद उन्होंने यह फैसला किया. वहीं, भाजपा के एक नेता ने भी फारूकी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी.

स्टैडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी का बीते दो महीने में 13वां शो था, जिसे रद्द किया गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)