भारत

गुजरात, महाराष्ट्र के बंदरगाह मादक पदार्थों की तस्करी के नए मार्ग के रूप में उभरे हैं: पंजाब पुलिस

पंजाब पुलिस के महानिरीक्षक सुखचैन सिंह गिल ने बताया है कि पिछले दो महीनों में गुजरात और महाराष्ट्र के बंदरगाहों के माध्यम से तस्करी की हुई 185.5 किलोग्राम हेरोइन बरामद की गई है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

चंडीगढ़: पंजाब पुलिस ने सोमवार को कहा कि गुजरात और महाराष्ट्र के बंदरगाह देश में मादक पदार्थों की तस्करी के नए रास्ते बनकर उभरे हैं और इनके जरिये नशीले पदार्थों की तस्करी को बढ़ावा मिल रहा है.

पंजाब के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि पिछले दो महीनों में गुजरात और महाराष्ट्र के बंदरगाहों के माध्यम से तस्करी की 185.5 किलोग्राम हेरोइन बरामद की गई है.

पुलिस ने रविवार को कहा कि उन्होंने गुजरात के भुज से आ रहे एक ट्रक से 38 किलोग्राम हेरोइन बरामद की है.

इन नशीले पदार्थों को संभवत: गुजरात के समुद्री मार्ग से भारत की सीमाओं में लाया गया था.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, आईजी ने कहा, ‘हाल ही में, नवांशहर पुलिस ने रविवार (28 अगस्त) को गुजरात के भुज से आ रहे एक ट्रक से 38 किलोग्राम हेरोइन बरामद की, जो स्पष्ट रूप से गुजरात के समुद्री मार्ग से भारत की सीमाओं में प्रवेश करके आई थी. दो लोग गिरफ्तार किए गए थे. यह बरामदगी पिछले सप्ताह राज्य में बरामद 13.51 किलोग्राम हेरोइन के अतिरिक्त है, जिससे एक सप्ताह में 51.51 किलोग्राम हेरोइन पकड़ी जा चुकी है.’

इससे पहले 12 जुलाई को गुजरात के आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) के साथ संयुक्त अभियान में पंजाब पुलिस ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर एक कंटेनर से 75 किलोग्राम हेरोइन बरामद की थी.

15 जुलाई को महाराष्ट्र पुलिस के साथ इसी तरह के एक ऑपरेशन में, मुंबई के न्हावा शेवा पोर्ट पर एक कंटेनर से 72.5 किलोग्राम हेरोइन बरामद की गई थी.

पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि पिछले एक सप्ताह पूरे पंजाब में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत 283 एफआईआर दर्ज करने के बाद 370 तस्करों और आपूर्तिकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस ने राज्य भर के संवेदनशील मार्गों में नाके बनाने के अलावा ड्रग प्रभावित इलाकों में घेराबंदी और तलाशी अभियान चलाकर 1.09 करोड़ रुपये ड्रग से कमाया पैसा, 13 किलो अफीम, 12 किलो गांजा, 7 क्विटंल अफीम की भूसी, 1.36 लाख नशीली गोलियां/कैप्सूल/इंजेक्शन/वायल और अन्य नशीली दवाएं बरामद की हैं.

उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों के खतरे से निपटने के लिए व्यापक स्तर पर नशा विरोधी अभियान शुरू किए गए हैं.

गौरतलब है कि गुजरात में एनडीपीएस के राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) अहमदाबाद ने बीते वर्ष भी 16 सितंबर को मुंद्रा अडानी बंदरगाह पर दो कंटेनरों से 2,990 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी. इन्हें अफगानिस्तान में उत्पन्न होने वाले टाल्क पाउडर या अर्ध-संसाधित टाल्क पत्थर के रूप में घोषित किया गया था. इसे ईरान के बांदर अब्बास बंदरगाह पर कंटेनरों में लोड किया गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)