भारत

भाजपा अध्यक्ष बोले- एम्स मदुरै 95 फीसदी पूरा, साइट पर पहुंचे विपक्षी सांसदों को मिला ख़ाली मैदान

बीते दिनों तमिलनाडु पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दावा किया था कि मदुरै में एम्स का 95 फीसदी काम पूरा हो चुका है. इसके बाद एम्स की साइट पर पहुंचे मदुरै सांसद एस. वेंकटेशन और कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने वहां ख़ाली मैदान मिलने पर तंज़ कसते हुए कहा कि किसी ने बिल्डिंग चुरा ली है.

मदुरै एम्स का निरीक्षण करने पहुंचे विपक्षी सांसद. (फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बीते 22 सितंबर (गुरुवार) को तमिलनाडु के मदुरै में केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाने हुए कहा था कि ‘मदुरै में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की स्थापना से जुड़ा 95 फीसदी काम पूरा हो चुका है और प्रधानमंत्री जल्द ही इसे जनता को समर्पित कर देंगे.’

उन्होंने आगे कहा था कि एम्स परियोजना के लिए 1,264 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है, इसके अलावा 164 करोड़ रुपये अतरिक्त दिए गए हैं, ताकि संक्रामक रोग ब्लॉक स्थापित किया जा सके.

द हिंदू के मुताबिक, उन्होंने साथ ही कहा था कि एम्स में एमबीबीएस की सीटों की संख्या भी 100 से बढ़ाकर 250 कर दी गई है.

यह सभी दावे उन्होंने मदुरै में उद्योगपतियों के साथ हुई बैठक में किए थे. इसके बाद एम्स निर्माण संबंधी उनके इन दावों पर विपक्षी सांसदों ने गंभीर सवाल उठाए हैं.

नड्डा के दावों के अगले ही दिन शुक्रवार को विरुधुनगर से कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर और मदुरै सांसद एस. वेंकटेशन ने एम्स की साइट का निरीक्षण किया और पाया कि वहां 95 फीसदी निर्मित एम्स तो दूर, एम्स का ढांचा तक नहीं है और यहां तक कि कोई बोर्ड तक नहीं लगा है जो यह बताता हो कि उक्त ज़मीन एम्स की है.

उन्होंने कहा, ‘यहां तक कि पहले यहां लगाया गया वह बोर्ड जिसमें दावा किया गया था कि यह ज़मीन एम्स मदुरै की है, वो भी गायब है.’

उन्होंने कहा, ‘इस विशाल भूमि पर किसी भी निर्माण कार्य के जल्द शुरू होने के कोई संकेत नहीं हैं.’

नड्डा के दावों का खंडन करते हुए वेंकटेशन ने कहा, ‘मार्च 2021 में 1977 करोड़ रुपये का संशोधित अनुमान आदेश जारी हुआ था. हालांकि, इसके लिए कैबिनेट की मंजूरी अभी दी जानी बाकी है.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे आश्चर्य है कि कैसे पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने इस तरह का दावा किया, जबकि टेंडर ही जारी नहीं किए गए हैं.’

मनिकम ने नड्डा को संबोधित करते हुए ट्वीट में लिखा, ‘धन्यवाद मदुरौ एम्स को 95 फीसदी पूरा करने के लिए. मैं और मदुरै सांसद वेंकटेशन एक घंटे तक थोप्पुर साइट पर एक घंटे तक इसे खोजते रहे और कुछ नहीं मिला. किसी ने इमारत को चुरा लिया है…’

उन्होंने ट्वीट के साथ साइट के फोटो भी डाले हैं जिनमें सपाट मैदान के अलावा और कुछ नजर नहीं आ रहा है.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा की तमिलनाडु इकाई ने एक ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दे पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को गुमराह किया, जिसके लिए दक्षिणी जिलों के लोग पिछले पांच सालों से लड़ रहे हैं.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने मदुरै के लोगों को धोखा दिया है.

वहीं, सांसद वेंकटेशन ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने एम्स मदुरै की साइट का यह देखने के लिए निरीक्षण किया कि ‘बुलबुल’ का इस्तेमाल करते हुए कैसे इमारत का निर्माण हुआ है.

इस बीच, हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक तमिलनाडु के एक भाजपा नेता ने कहा है कि भाजपा अध्यक्ष की टिप्पणी को गलत संदर्भ में लिया गया.

तमिलनाडु के भाजपा उपाध्यक्ष नारायण तिरुपति ने एक ट्वीट में कहा, ‘उनका (नड्डा) कहना था कि निर्माण शुरू करने की दिशा में 95 फीसदी काम पूरा हो चुका है और साथ ही कहा था कि निर्माण कार्य जल्द शुरू होगा.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)