राजनीति

एमपी: भाजपा सांसद बोले- शराब पियो, गुटखा खाओ या थिनर सूंघो, पानी का टैक्स देना होगा

रीवा से भाजपा सांसद जनार्दन मिश्रा जल संरक्षण संबंधी एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि नदी, नाले, तालाब सब सूख गए हैं, जलस्तर कम हो गया है, पानी तब बचेगा जब पैसा लगाओ… चाहे कितनी फ़िज़ूलख़र्ची करो… हमें आपत्ति नहीं है, लेकिन जल कर चुकाओ.

मध्य प्रदेश के रीवा से भाजपा सांसद जनार्दन मिश्रा. (फोटो साभारः फेसबुक)

भोपाल: रीवा से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद जनार्दन मिश्र ने ज़िले में जल संरक्षण को लेकर एक अजीबोगरीब बयान दिया है. उन्होंने पानी का महत्व बताते वक्त लोगों को नशा और मादक पदार्थों के सेवन की छूट दे दी.

दैनिक भास्कर के मुताबिक, सांसद मिश्रा ने कहा कि बिजली बिल माफ हो सकता है, मुफ्त में राशन भी ले लो, लेकिन सरकारें चुनाव के समय बड़े-बड़े वादे करती हैं, अगर कोई मुफ्त पानी की बात करे तो नहीं मानना.

उन्होंने आगे कहा कि चाहे दारू पियो, गुटखा खाओ, आयोडेक्स खाओ और चाहे थिनर सूंघो, लेकिन पानी के लिए टैक्स देना पड़ेगा. सभी खर्चों में कटौती करके सभी को जल कर देना चाहिए.

इस संबंध में एक वीडियो भी वायरल हो रहा है.

वीडियो में जनार्दन मिश्रा को कहते सुना जा सकता है, ‘नदी, नाला, तालाब सब सूख गए. कुछ है ही नहीं यहां पानी के नाम पर … जब कभी ट्यूबबैल से निकल आता है… धरती में पानी ही नहीं बचा है… हर साल जल स्तर घट रहा है… जल स्तर घट रहा है क्योंकि हम पानी का ज्यादा उपयोग कर रहे हैं और दूसरा ये है कि पानी बचाते नहीं है… पानी नीचे धरती के अंदर जाता ही नहीं है… जब धरती के अंदर नीचे पानी डाल नहीं रहे हैं, पानी उपयोग ज्यादा हो रहा है तो पानी रहेगा ही नहीं अपने जिले में…’

इसके बाद उन्होंने कहा, ‘पानी रखना है तो बचाना है पानी… और पानी तब बचेगा जब अपना पैसा लगाओ…. जब पैसा लगता है तो लगता है कि बचत करो… चाहे जहां फिजूलखर्ची कीजिए, हमें कोई आपत्ति नहीं है, चाहे गुटखा खाओ, चाहे जारू पीओ, चाहे थिनर सूंघो, चाहे सॉल्यूशन (पंक्चर आदि जोड़ने वाला ट्यूब) खाओ, चाहे आयोडेक्स खाओ… लेकिन पानी का महत्व समझो’

भास्कर के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘हर व्यक्ति को घर में पीने का साफ पानी मिले, इसके लिए सरकार ने ‘हर घर जल’ योजना बनाई है. इसमें सहयोग करना चाहिए. जल समितियों का गठन करके जल कर का भुगतान करना चाहिए, तभी योजना सफल हो पाएगी.’

वे जल जीवन मिशन के तहत हुई जल संरक्षण एवं संवर्धन कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे. कार्यशाला का आयोजन स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने रविवार को रीवा के कृष्णराज कपूर सभागार में किया था.

मिश्रा का यह पहला विवादित बयान नहीं है. साल 2019 में मिश्रा ने एक आईएएस अधिकारी पर अवैध कॉलोनी में रहने वाले लोगों से रिश्वत लेने का आरोप लगाते हुए सार्वजनिक मंच से कहा था कि जब निगम आयुक्त सभाजीत यादव आपके पास आए और पैसे मांगे तो मुझे बुलाना. मैं आऊंगा और एक गड्ढा खोदकर उसे ज़िंदा गाड़ दूंगा.