Author Archives

पीयूष सेखसरिया

क्यामार घाटी के माने किरी में स्थित शांगदोंग के सामने प्रतिष्ठित स्तूप और उसके सामने हवा में फहराते हुए प्रार्थना ध्वज. (फोटो: कर्मा सोनम/ एनसीएफ)

लद्दाख: हिमालयन भेड़िए के संरक्षण के लिए अनूठी कोशिश

एक समय तक लद्दाख में हिमालयन भेड़ियों से मवेशी बचाने के लिए शांगदोंग यानी एक तरह के पत्थरों के जाल बनाकर उन्हें फंसाया जाता था और इसकी मौत पर स्थानीय उत्सव मनाते थे. पर अब इसके अस्तित्व पर मंडराते ख़तरे को देखते हुए इसके संरक्षण के लिए इन शांगदोंगों को स्तूपों में बदला जा रहा है.