डब्ल्यूएचओ

हम कोविड-19 के नए और ख़तरनाक चरण में हैं: डब्ल्यूएचओ प्रमुख

डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडेहनम ग्रेब्रेयेसस ने कहा कि विषाणु अब भी तेजी से फैल रहा है और भौतिक दूरी, मास्क लगाने तथा हाथ धोने जैसे कदम आज भी महत्वपूर्ण हैं.

अमेरिका के बाद ब्राजील ने दी डब्ल्यूएचओ छोड़ने की धमकी

कोरोना वायरस महामारी से संबंधित जानकारी छिपाने के लिए चीन के साथ कथित तौर पर मिलीभगत करने का आरोप लगाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ सभी संबंध तोड़ लिए थे.

कोरोना महामारी के शुरुआती दिनों में महत्वपूर्ण जानकारी देने में चीन ने देरी की थी: रिपोर्ट

आंतरिक दस्तावेजों से इस बात का खुलासा हुआ है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की बैठकों में चीन की सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली के भीतर सूचना और प्रतिस्पर्धा पर सख्त नियंत्रण को काफी हद तक दोष दिया गया था. हालांकि संगठन सार्वजनिक रूप से कोरोना वायरस से संबंधित जानकारी तुरंत उपलब्ध कराने के लिए चीन की लगातार सराहना करता रहा है.

शारीरिक दूरी, मास्क और आंखों की रक्षा से हो सकता है कोविड-19 से बचाव: लांसेट

कोरोना वायरस को लेकर एक समीक्षा मेडिकल जर्नल लांसेट में प्रकाशित हुई है. अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि मौजूदा सबूतों की यह व्यवस्थित समीक्षा विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कराई गई है.

कोरोना वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिए भारत सहित 62 देशों ने प्रस्ताव पेश किया

यह प्रस्ताव 35 देशों और यूरोपीय संघ के 27 सदस्य देशों की ओर से पेश किए गए सात पेज के मसौदा प्रस्ताव का हिस्सा है. अमेरिका और चीन इस प्रस्ताव का हिस्सा नहीं हैं.

हो सकता है कोरोना वायरस कभी न जाए: विश्व स्वास्थ्य संगठन

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात परिस्थिति संबंधी प्रमुख डॉ. माइकल रायन ने कहा कि यह अनुमान लगाना असंभव है कि इस वैश्विक महामारी पर कब तक नियंत्रण पाया जा सकेगा.

अप्रैल में कोविड-19 संक्रमण के रोजाना 80,000 मामले सामने आए: डब्ल्यूएचओ प्रमुख

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने चेताया है कि लॉकडाउन से निकल रहे देश अगर बहुत व्यवस्थित और चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन को नहीं हटाएंगे तो उन्हें दोबारा लॉकडाउन में जाना पड़ सकता है.

कोविड-19 संक्रमण की आपराधिक जवाबदेही तबलीग़ी जमात के माथे ही क्यों है?

डब्ल्यूएचओ कहता है कि नागरिकों का स्वास्थ्य सरकारों की प्राथमिक ज़िम्मेदारी है. लेकिन भारत सरकार के यात्राओं पर प्रतिबंध, हवाई अड्डों पर सबकी स्क्रीनिंग के निर्णय में हुई देरी पर बात नहीं हुई, न ही कोविड जांच की बेहद कम दर की बात उठी. जमात ने ग़लती की है पर क्या सरकारों को कभी उनकी नाकामियों के लिए जवाबदेह ठहराया जाएगा?

अमेरिका ने कोरोना की लैब में उत्पत्ति को लेकर कोई सबूत नहीं दिए: विश्व स्वास्थ्य संगठन

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ का कहना है कि उनके पास कोरोना वायरस के चीन के वुहान की विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला में उत्पन्न होने के सबूत हैं.

डब्ल्यूएचओ ने ट्रंप की आलोचना के बीच कोरोना से निपटने के लिए चीन को सराहा

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि दुनिया के देशों को चीन के वुहान शहर से सीखना चाहिए कि किस तरह से वायरस का केंद्रबिंदु होने के बावजूद वहां सामान्य स्थिति बहाल की गई. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ को चीन की पीआर एजेंसी करार दिया था.

कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार पाए जाने पर चीन को नतीजे भुगतने पड़ेंगे: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया कि चीन पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन का समर्थन कर रहा था जो राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार माने जा रहे हैं. ट्रंप ने कहा कि अगर जो बाइडेन जीत जाते हैं तो अमेरिका पर चीन जीत जाएगा.

कोरोना से लड़ने के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र का राष्ट्रीयकरण क्यों ज़रूरी है?

स्पेन में प्रति 1,000 व्यक्तियों के लिए 3 अस्पताल बेड और 4.1 डॉक्टर हैं. भारत में यह आंकड़ा प्रति 1,000 व्यक्तियों के लिए 0.7 अस्पताल बेड और 0.8 डॉक्टर का है. बावजूद इसके स्पेन को कोरोना महामारी के चलते सभी निजी अस्पतालों का राष्ट्रीयकरण करना पड़ा. भारत सरकार इस संकट का जवाब कैसे देगी, यह देखने वाली बात है.

चीन की तरह अन्य देश भी मृतकों की संख्या में संशोधन करेंगे: डब्ल्यूएचओ

कोविड-19 मामलों के आंकड़े छिपाने को लेकर हो रही अंतरराष्ट्रीय आलोचना के बीच चीन ने शुक्रवार को मृतकों की संख्या में संशोधन किया था, जिसके बाद वुहान शहर के मृतकों की संख्या में हज़ार से ज़्यादा का इजाफा हुआ था.

कोरोना वायरस स्वाइन फ्लू से दस गुना अधिक ख़तरनाक: डब्ल्यूएचओ

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कोरोना वायरस को स्वाइन फ्लू से भी ख़तरनाक बताते हुए नियंत्रण उपायों को धीरे-धीरे हटाने का आह्वान किया है. उन्होंने कहा कि हमारे वैश्विक जुड़ाव का मतलब यह बीमारी फिर से सिर उठा लेगी.

भारत में कोरोना वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा नहीं: विश्व स्वास्थ्य संगठन

अपनी एक हालिया रिपोर्ट में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत में कोरोना वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बताया था. हालांकि, अब उसने सफाई देते हुए कहा है कि भारत में फिलहाल ऐसा कोई खतरा नहीं है.