बालिका गृह बलात्कार

बिहार बालिका गृह यौन शोषण मामले में ब्रजेश ठाकुर समेत 12 को आजीवन कारावास

साल 2018 में बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर के एक बालिका गृह में यौन शोषण का मामला सामने आया था, जिसे ब्रजेश ठाकुर के संगठन द्वारा चलाया जा रहा था. दिल्ली की एक अदालत ने बीते जनवरी में ठाकुर को पॉक्सो क़ानून और आईपीसी की धाराओं के तहत बलात्कार और सामूहिक बलात्कार का दोषी माना था.

बिहार बालिका गृह: सीबीआई ने 11 लड़कियों की हत्या की आशंका जताई

सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि मुज़फ़्फ़रपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और उसके सहयोगियों ने 11 लड़कियों की कथित रूप से हत्या की थी.

बिहार: सीबीआई ने छह और आश्रय गृहों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया

टीआईएसएस की ऑडिट रिपोर्ट के आधार पर बिहार में आश्रय गृहों पर मामले दर्ज किए गए हैं. रिपोर्ट में इन आश्रय गृहों के कुप्रबंधन और वहां रहने वाली महिलाओं के उत्पीड़न की बात सामने आई थी.

बिहार बालिका गृह: सीबीआई ने बताया, बच्चियों को अश्लील गानों पर नचाया, मेहमानों ने रेप किया

सीबीआई ने 73 पन्नों का आरोप पत्र दाखिल किया है जिसमें बताया गया है कि कैसे बालिका गृह के मालिक ब्रजेश ठाकुर ने लड़कियों को खुले कपड़े पहनने, भोजपुरी गानों पर नाचने, नशा करने और मेहमानों द्वारा बलात्कार करने के लिए मजबूर किया.

Muzaffarpur: Central Bureau of Investigation (CBI) along with the officers of Central Forensic Science Laboratory (CFSL) investigate the shelter home, where 34 minor girls were allegedly raped, in Muzaffarpur on Saturday, Aug 11, 2018. (PTI Photo) (PTI8_11_2018_000174B)

बिहार: टिस की सोशल ऑडिट रिपोर्ट में 17 आश्रय गृहों की स्थिति चिंताजनक

बिहार के समाज कल्याण विभाग ने मुंबई के टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की उस सोशल ऑडिट रिपोर्ट को सार्वजनिक कर दिया है जिसने मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह में 34 लड़कियों के यौन शोषण का खुलासा किया था.

टिस द्वारा जारी बिहार के आश्रय गृहों के सोशल ऑडिट रिपोर्ट सार्वजनिक करे सरकार: सुप्रीम कोर्ट

केंद्र सरकार की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल से शीर्ष अदालत ने पूछा कि देश के विभिन्न आश्रय गृहों में रह रहे 1575 लड़के-लड़कियां यौन और शारीरिक उत्पीड़न के शिकार हैं. आपने इस बारे में क्या किया?

बिहार बालिका गृह बलात्कार मामला: आरोपी ब्रजेश ठाकुर को जेल में वीआईपी ट्रीटमेंट

बिहार में स्वतंत्रता दिवस के चलते जेलों में की गई ज़िला प्रशासन की छापेमार कार्रवाई में मुज़फ़्फ़रपुर जेल में ब्रजेश ठाकुर मुलाक़ातियों से मिलने वाले क्षेत्र में टहलते पाया गया. उसके पास से दो कागज भी बरामद हुए जिनमें एक मंत्री सहित कई रसूखदारों के फोन नंबर लिखे थे.

सुप्रीम कोर्ट ने मीडिया से यौन शोषण ​पीड़िताओं की तस्वीरें प्रकाशित/प्रसारित न करने को कहा

देश में बलात्कार से संबंधित राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों का हवाला देते हुए शीर्ष अदालत ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ सोशल मीडिया पर पीड़िताओं की धुंधली या संपादित तस्वीरें प्रकाशित न करने का निर्देश दिया.