यूपी: क्या जौनपुर में बाबू सिंह कुशवाहा का राजनीतिक पुनर्वास हो पाएगा

बाहुबली धनंजय सिंह और उनकी पत्नी द्वारा नाटकीय ढंग से भाजपा को समर्थन और दो पुराने नेताओं की लड़ाई ने जौनपुर चुनाव को दिलचस्प बना दिया है.

संघ और भाजपा: कितने दूर, कितने पास?

क्या स्वयंसेवक उस सामाजिक स्वीकार्यता की अनदेखी कर पाएंगे जो मोदी सरकार के कारण उन्हें मिली है? क्या नाराज़ स्वयंसेवक अपने प्रचारक प्रधानमंत्री से दूरी बना पाएंगे? या वे आख़िरकार सामंजस्य कर लेंगे, यह सोचकर कि 2025 के अपने शताब्दी वर्ष में सत्ता से बाहर रहने का जोखिम उठाना बुद्धिमानी नहीं?

उत्तर प्रदेश: भाजपा समर्थक रहा सैंथवार मल्ल समाज अपना रास्ता क्यों बदल रहा है?

उत्तर प्रदेश में राजनीतिक ताक़त हासिल करने के आकांक्षी जाति समूहों में अब एक नया नाम सैंथवार समुदाय का जुड़ गया है. सियासी भागीदारी को लेकर गोरखपुर मंडल में सक्रिय यह समुदाय भाजपा का समर्थक माना जाता था, लेकिन टिकट न मिलने पर अब असंतुष्ट है.

नरेंद्र मोदी के पिछली सरकारों से ज़्यादा नौकरी देने के दावे में कितनी सच्चाई है?

बीते दिनों पीटीआई को दिए एक साक्षात्कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि उनके शासनकाल में पिछली सरकारों से ज़्यादा नौकरियां दी गई हैं. हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि वे किन आंकड़ों के आधार पर यह बात कह रहे हैं क्योंकि विभिन्न सर्वेक्षण और रिपोर्ट उनके दावे के उलट तस्वीर दिखाते हैं.

बिहार: लोकसभा चुनाव के लिए मतदान के बाद हिंसा में एक की मौत, इंटरनेट बंद

घटना सारण लोकसभा क्षेत्र की है. पुलिस ने कहा कि यह मतदान के दौरान राजद और भाजपा उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच झड़प का नतीजा थी. 20 मई को मतदान के दौरान गड़बड़ी के आरोप को लेकर भाजपा और राजद समर्थकों के बीच विवाद होने पर फायरिंग हुई थी, जिसमें एक व्यक्ति की मौक़े पर ही मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए थे.

रिटायरमेंट के समय कलकत्ता हाईकोर्ट के जज ने कहा- हमेशा आरएसएस के सदस्य रहा हूं

कलकत्ता हाईकोर्ट के जस्टिस चित्तरंजन दाश ने अपने रिटायरमेंट कार्यक्रम में कहा कि अब वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को अधिक समय देना चाहते हैं, जिससे वे बचपन से जुड़े हुए हैं.

पंजाब: शंभू स्टेशन पर किसानों का विरोध प्रदर्शन ख़त्म, कहा- भाजपा नेताओं के घरों का घेराव करेंगे

संयुक्त किसान मोर्चा और किसान मजदूर मोर्चा के बैनर तले फरवरी में हुए ‘दिल्ली चलो’ विरोध प्रदर्शन के दौरान हरियाणा पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किए गए तीन किसानों की रिहाई की मांग करते हुए किसान 17 अप्रैल से पटियाला के शंभू रेलवे स्टेशन पर रेल ट्रैक पर बैठे हुए थे. उनका कहना है कि अब वे इसी मांग को लेकर पंजाब और हरियाणा में भाजपा नेताओं के आवासों का घेराव करेंगे.

‘मेन मुद्दा बेरोजगारी बा, महंगाई आसमान छुअत बा, पांच सौ रुपया मजदूरी भी कम पड़त बा’

ऐसा कई चुनावों के बाद दिखाई दे रहा है कि विपक्षी गठबंधन के मुद्दे आम लोगों तक पहुंचे हैं और उनका असर भी पड़ रहा है.

पश्चिम बंगाल: ममता बनर्जी ‘इंडिया’ गठबंधन में अपनी स्थिति को लेकर क्यों स्पष्ट नहीं हैं?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने केंद्र में 'इंडिया' गठबंधन की सरकार बनने पर सीएए, एनआरसी और समान नागरिक संहिता को समाप्त करने की बात कही है. हालांकि, उनके गठबंधन का हिस्सा होने पर भ्रम की स्थिति बनी हुई है. इससे कांग्रेस के स्थानीय नेतृत्व और केंद्रीय नेतृत्व के बीच भी विवाद खड़ा हो गया है.

जम्मू-कश्मीर: दो आतंकी हमलो में एक की मौत और दो पर्यटक घायल

हमले ऐसे समय पर हुए हैं जब अनंतनाग-राजौरी सीट पर लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार जारी है. जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहली बार चुनाव हो रहे हैं.

अग्निपथ योजना: बिहार में चयन हो जाने के बाद भी नौकरी छोड़ रहे हैं अग्निवीर

अन्य ख़बरें भी बतलाती हैं कि अग्निपथ योजना के तहत चयनित बहुत सारे युवकों ने ट्रेनिंग के बीच में ही नौकरी छोड़ दी थी. ये युवक सेना की नौकरी में जाना तो चाहते हैं, लेकिन अग्निपथ ने उनका जज़्बा ख़त्म कर दिया है.

दिल्ली: स्वाति मालीवाल प्रकरण ने चुनाव से ठीक पहले केजरीवाल के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है

मुख्यमंत्री केजरीवाल की रिहाई से बड़ा मुद्दा अब बिभव कुमार की गिरफ़्तारी बन गया है. इस प्रकरण में भाजपा की भूमिका का सच सामने आना बाकी है, लेकिन चुनाव से सिर्फ़ हफ़्ता भर पहले उठे इस विवाद ने आम आदमी पार्टी को मुक़ाबले में थोड़ा पीछे जरूर धकेल दिया है.

राजस्थान: भाजपा के मंत्री ने अपनी ही सरकार की परियोजना में अनियमितता का आरोप लगाया

राजस्थान के कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीणा ने मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा को एक पत्र लिखकर एक बहुमंजिला आवासीय परियोजना में सरकारी खजाने को 1,146 करोड़ रुपये के संभावित नुकसान सहित अनियमितताओं का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि राज्य का सामान्य प्रशासन विभाग कैबिनेट की मंज़ूरी के बिना भी इस पर काम कर रहा है. विभाग मुख्यमंत्री शर्मा के अधीन है.

उत्तर प्रदेश के मतदाताओं के लिए क्यों भिन्न है 2024 चुनाव

कहा जाता है कि कांग्रेस में प्रत्याशी चुनाव लड़ता है, भाजपा में संगठन यह जिम्मेदारी संभालता है. इस बार भाजपा और संघ के कार्यकर्ताओं में उत्साह कम दिखाई दे रहा है.

1 2 3 438