भारत

एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय के घर सीबीआई का छापा

प्रणय रॉय, राधिका रॉय और आरआरपीआर होल्डिंग्स पर बैंक फ्रॉड का आरोप है. हालांकि, चैनल का कहना है कि एनडीटीवी और उसके प्रमोटर को झूठे आरोप में परेशान किया जा रहा है.

Prannoy Roy Twitter

एनडीटीवी के संस्थापक और वरिष्ठ पत्रकार प्रणय रॉय. (फोटो: ट्विटर)

एनडीटीवी के संस्थापक और वरिष्ठ पत्रकार प्रणय रॉय के घर पर सीबीआई ने छापा मारा है. एक निजी बैंक को फ्रॉड करके नुकसान पहुंचाने के आरोप में सीबीआई ने प्रणय रॉय के दिल्ली और देहरादून में स्थिति आवास पर छापेमारी की. हालांकि सीबीआई के छापे पर एनडीटीवी ने प्रतिक्रिया दी है कि सीबीआई पुराने आरोपों को आधार बनाकर एनडीटीवी और चैनल के प्रमोटर्स को परेशान कर रही है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सीबीआई ने कन्फर्म किया है कि एनडीटीवी के फाउंडर और एक्जीक्यूटिव को-चेयरपर्सन प्रणय रॉय के दिल्ली आवास पर सीबीआई ने छापेमारी की है.

प्रणय रॉय, उनकी पत्नी राधिका रॉय और आरआरपीआर होल्डिंग्स पर आरोप है कि इन्होंने बैंक से फ्रॉड किया है और बैंक को कथित तौर पर 48 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाया.

अंग्रेज़ी अख़बार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, ‘हालांकि, एनडीटीवी न्यूज़ चैनल के दफ़्तर में छापा नहीं पड़ा है. सीबीआई के अधिकारियों ने चैनल की प्रमोटर कंपनी आरआरपीआर के आॅफिस में छापा मारा. यह छापा कुल मिलाकर दिल्ली, देहरादून और उत्तराखंड समेत चार जगहों पर मारा गया.’

‘कंपनी ने 2008 में आईसीआईसीआई बैंक से 366 करोड़ क़र्ज़ लिया था, जिसमें कुछ अनियमितताओं के आरोप में सीबीआई ने पिछले हफ्ते केस दर्ज किया था. यह केस सीबीआई की बैंकिंग फ्रॉड शाखा ने दर्ज किया था.’

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने भी प्रणय रॉय, उनकी पत्नी राधिका रॉय और एनडीटीवी के एक अन्य अधिकारी के ख़िलाफ़ फेमा के प्रावधानों का उल्लंघन करने को लेकर 2030 करोड़ का नोटिस जारी किया था.

छापा पड़ने के कुछ घंटे बाद एनडीटीवी हिंदी के प्रमुख एंकर रवीश कुमार ने फेसबुक पर पोस्ट लिखी, ‘तो आप डराइए, धमकाइए, आयकर विभाग से लेकर सबको लगा दीजिए. ये लीजिए हम डर से थर थर कांप रहे हैं. सोशल मीडिया और चंपुओं को लगाकर बदनामी चालू कर दीजिए लेकिन इसी वक्त में जब सब ‘गोदी मीडिया’ बने हुए हैं, एक ऐसा भी है जो गोद में नहीं खेल रहा है. आपकी यही कामयाबी होगी कि लोग गीत गाया करेंगे- गोदी में खेलती हैं इंडिया की हज़ारों मीडिया. एनडीटीवी इतनी आसानी से नहीं बना है, ये वो भी जानते हैं. मिटाने की इतनी ही ख़ुशी है तो हुजूर किसी दिन कुर्सी पर आमने सामने हो जाइएगा. हम होंगे, आप होंगे और कैमरा लाइव होगा.’

यह टिप्पणी लिखते हुए उन्होंने एनडीटीवी का आधिकारिक बयान शेयर किया, जिसमें कहा गया, ‘आज सुबह सीबीआई ने एनडीटीवी और उनके प्रमोटर को अंतहीन झूठ और घिसे-पिटे आरोपों के आधार पर परेशान करने का अभियान और तेज़ कर दिया. एनडीटीवी और उसके प्रमोटर अलग अलग एजेंसियों को लगाकर निशाना बनाने के इस अभियान से लड़ते रहेंगे. हम भारत में लोकतंत्र और आज़ाद आवाज़ को कुचलने के इन प्रयासों के आगे झुकने वाले नहीं हैं. जो लोग भारत की संस्थाओं को बर्बाद करने में लगे हैं, उनके लिए हमारी तरफ से एक ही संदेश है- हम अपने देश के लिए लड़ते रहेंगे ओर इन ताक़तों को हरा कर निकलेंगे.’

सीबीआई के छापे के संबंध में कंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने बयान दिया, ‘क़ानून अपना काम कर रहा है. किसी को निशाने पर बिल्कुल नहीं लिया जा रहा है. यह सरकार दख़ल देने में विश्वास नहीं करती. सीबीआई के पास ज़रूर कोई सूचना होगी, इसलिए उन्होंने यह क़दम उठाया होगा.’

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने ट्वीट किया, ‘क़ानून का भय ज़रूरी है और यह सबके साथ लागू होना चाहिए, चाहे आप कोई भी हों.’

कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नांडिस ने मीडिया से कहा, ‘आप जानते हैं क्या चल रहा है देश में, आपको (मीडिया को) निर्णय लेना है कि क्या करना है.’