भारत

सोनिया गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी और विभाजनकारी बयानों के लिए अर्णब पर कई राज्यों में केस दर्ज

पालघर मॉब लिंचिंग मामले में कथित तौर पर सांप्रदायिकता भड़काने के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर टिप्पणी करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस और यूथ कांग्रेस नेताओं ने महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के अलावा कुछ अन्य राज्यों में रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज कराई है.

अर्णब गोस्वामी (फोटो साभार: ट्विटर)

अर्णब गोस्वामी (फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली/रायपुर: छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले की पुलिस ने कांग्रेस नेताओं की शिकायतों पर समाचार चैनल रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी के खिलाफ दो अलग-अलग मामले दर्ज किए.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, महाराष्ट्र में प्रदेश यूथ कांग्रेस अध्यक्ष सत्यजीत टांबे ने कहा कि उन्होंने गोस्वामी के खिलाफ संगमनेर में शिकायत दर्ज कराई है और यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि वे सभी जिलों में शिकायत दर्ज कराएं. नागपुर में भी प्रदेश के बिजली मंत्री नितिन राउत के बेटे और यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता कुणाल ने भी ऐसी ही शिकायत दर्ज कराई है.

महाराष्ट्र के गृह राज्यमंत्री सतेज पाटिल ने कहा कि पालघर लिंचिंग मामले में कथित तौर पर सांप्रदायिकता भड़काने के साथ सोनिया गांधी को बदनाम करने के मामले में प्रदेश सरकार कानूनी विकल्प तलाश कर रही है.

रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने अर्णब गोस्वामी पर पालघर मामले में अपने वक्तव्य से देश की जनता के सद्भाव को समुदाय के आधार पर भड़काने और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर टिप्पणी करने का आरोप लगाया है.

वहीं कांग्रेस नेता गिरीश दुबे ने गोस्वामी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी द्वारा प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कोरोना वायरस को लेकर दिए गए सुझावों को गलत ढंग से पेश करने का आरोप लगाया है.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मरकाम और सिंहदेव ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है कि समाचार चैनल पर उसके संपादक अर्णब गोस्वामी ने मंगलवार को महाराष्ट्र के पालघर में संत की भीड़ द्वारा हत्या कर दिए जाने पर ‘पूछता है भारत’ डिबेट कार्यक्रम किया था.

इसमें अर्णब गोस्वामी ने अपने वक्तव्य से देश की जनता के सद्भाव को समुदाय के आधार पर भड़काया. साथ ही देश के विभिन्न समुदायों के बीच नफरत का वातावरण बनाया गया है.

उन्होंने बताया कि कांग्रेस नेताओं ने शिकायत की है कि अपने डिबेट के दौरान गोस्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी गलत टिप्पणी की है. अधिकारियों ने बताया कि कांग्रेस नेताओं की शिकायत के बाद पुलिस ने संपादक अर्णब गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

उन्होंने बताया कि कांग्रेस नेता गिरीश दुबे ने भी गोस्वामी के खिलाफ एक शिकायत सिविल लाइंस थाना में दी है. दुबे ने आरोप लगाया कि गोस्वामी ने 16 अप्रैल को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में कोरोना वायरस रोग के रोकथाम के लिए दिए गए सुझावों को गलत ढंग से पेश किया तथा झूठी खबर अपने चैनल में प्रसारित किया.

यह केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा महामारी अधिनियम 1897 के तहत जारी किए गए आदेशों का उलंघन है. इस आदेश में कहा गया है कि कोविड 19 के सदंर्भ में कोई भी अफवाह या गलत समाचार प्रकाशित या प्रसारित नहीं करेगा. अधिकारियों ने बताया कि दुबे की शिकायत पर भी गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

रायपुर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने बताया कि गोस्वामी के खिलाफ दो अलग-अलग शिकायतों पर दो मामले दर्ज किए गए हैं. मामले की जांच की जा रही है.

प्रभात ख़बर की रिपोर्ट के अनुसार, झारखंड के गोड्डा जिले के महागामा थाना में भी अर्णब के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है. बुधवार देर शाम महागामा विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने टीवी एंकर के खिलाफ थाने में लिखित शिकायत पत्र देने का काम किया.

झारखंड के अलावा बिहार कांग्रेस के नेता कौकब कादरी ने अर्णब गोस्वामी के खिलाफ गर्दनीबाग थाने में आवेदन दिया है. साथ ही उन्होंने पत्रकार अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी की मांग की है.

इधर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, ‘रिपब्लिक और आर. भारत टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी के इस अनर्गल बकवास को पत्रकारिता कह सकते हैं? यह तो सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का कुत्सित प्रयास है. न भाषा की मर्यादा न किसी की मान मर्यादा का ध्यान. यह तो अपराध है. संज्ञेय और दंडनीय अपराध.’

उन्होंने कहा कि हमारे रिपब्लिक का कानून फर्जी रिपब्लिक को सबक सिखाने में सक्षम है.

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘मैं न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन और एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया से संपादक और उनके चैनल के खिलाफ उचित कार्रवाई करने का आग्रह करता हूं. मुझे उम्मीद है कि उनके नियोक्ता उन्हें तुरंत इस्तीफा देने के लिए कहेंगे.’

कांग्रेस मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला गोस्वामी द्वारा उनके शो पर सोनिया गांधी पर की गई कथित टिप्पणी का एक क्लिप ट्वीट किया.

सुरजेवाला द्वारा ट्वीट किए गए क्लिप में गोस्वामी कहते हुए सुने जाते हैं, ‘आपकी पार्टी और आपकी पार्टी के रोम से आई हुई इटली की सोनिया गांधी चुप नहीं रहती. आज वो चुप हैं, मन ही मन में मुझे लगता है वो खुश हैं…वो खुश हैंकि संतों को सड़कों पे मारा गया, जहां पे उनकी सरकार है. रिपोर्ट भेजेगी वो, वो इटली में रिपोर्ट भेजेगी…मैं बोल रहा हूं. देखिए जहां मैंने एक सरकार ली, वहां पे हिंदू संतों को मैं मरवा रही हूं. और वहां से वाह-वाही मिलेगी. वाह बेटा, वाह…बहुत अच्छा किया सोनिया एंटोनियो माइनो.’

मामले दर्ज होने के बाद अपने चैनल पर प्राइम टाइम डिबेट की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं उन लोगों का शुक्रिया अदा करता हूं जो इसके बावजूद मेरे साथ खड़े हैं कि सोनिया गांधी ने तंत्र-मंत्र फेंककर अपने बचे-खुचे मुख्यमंत्रियों से कहा कि वह मुझे तुरंत गिरफ्तार देखना चाहती हैं.’

गोस्वामी ने कहा, ‘मुझे सोनिया गांधी से यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि आइए मुझे गिरफ्तार करिए.’

सोनिया गांधी को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘कोई भी आपसे या आपके परिवार से अब नहीं डरता है. देशभर में दर्ज किए जा रहे हजारों एफआईआर आपकी घबराहट को दिखाते हैं.’

उन्होंने राजस्थान और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों को सोनिया का तोता बताया जिनसे उन्होंने उन्हें गिरफ्तार करने के लिए कहा है.

बुधवार की शाम को ट्विटर पर शीर्ष पांच ट्रेंड गोस्वामी के समर्थन या उनकी गिरफ्तारी की मांग से जुड़े थे.

अर्णब गोस्वामी ने लगाया जानलेवा हमले का आरोप, दो गिरफ्तार

रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी और उनकी पत्नी पर कथित तौर पर हमला किए जाने की घटना सामने आई है. अर्णब के अनुसार यह हमला देर रात उस वक्त हुआ, जब वह स्टूडियो से घर लौट रहे थे. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और 2 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है.

अर्णब ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि रास्ते में दो अज्ञात लोगों ने उनकी कार पर हमला किया. उन्होंने इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है. अर्णब और उनकी पत्नी सोनिया गोस्वामी इस हमले में बाल-बाल बच गए हैं. अर्णब ने बताया कि यह घटना रात करीब 12 बजकर 15 मिनट पर हुई. घटना के वक्त कार को खुद वही ड्राइव कर रहे थे.

अर्णब ने हमले की जानकारी देते हुए बताया, ‘वर्ली स्थित ऑफिस से घर लौटते वक्त गणपतराव कदम रोड पर यह घटना हुई. दो बाइक सवार हमलावरों ने कार के पास बाइक रोकी और वे मेरी तरफ इशारे करते हुए शीशे पर जोर-जोर से मारने लगे. हमने वहां से निकलने की कोशिश की तो हमलावरों ने बॉटल से लिक्विड फेकना शुरू किया.’

अर्णब ने बताया कि उनके सुरक्षाकर्मियों ने पीछा कर हमलावरों को पकड़ा और बताया कि वे कांग्रेस के कार्यकर्ता थे. अर्णब ने इस हमले के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को जिम्मेदार ठहराया है.

मुंबई जोन-3 के डीसीपी ने बताया कि अर्णब और उनकी पत्नी पर हमले के आरोप में 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इस संबंध में एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में धारा 341 और 504 के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अर्णब गोस्वामी पर केस दर्ज कराए जाने की निंदा की है.

उन्होंने कहा, हम अर्णब गोस्वामी पर हमले की कोशिश की निंदा करते हैं. हम किसी भी पत्रकार पर हमले की निंदा करते हैं. यह लोकतंत्र के खिलाफ है. यह वास्तव में विडंबना है कि जो सहिष्णु होने का उपदेश देते हैं, वो कितने असहिष्णु हो गए है. इसलिए हम इस कोशिश की निंदा करते हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)