भारत

गुजरात: पिछले दो साल में प्रतिदिन दो हत्याएं, चार बलात्कार और अपहरण की छह घटनाएं हुईं

गुजरात के गृह विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, 31 दिसंबर 2020 तक पिछले दो साल में राज्य के विभिन्न हिस्सों में 1,944 हत्याएं, 3,095 बलात्कार, अपहरण के 4,829 मामले और आत्महत्या के 14,000 से अधिक मामले सामने आए हैं. इसके अलावा 198.30 करोड़ मूल्य की भारत में निर्मित विदेशी शराब की 15 करोड़ से अधिक बोतलें ज़ब्त की गई हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

गांधीनगर: गुजरात विधानसभा में बीते बुधवार को अपराध के आंकड़े पेश किए गए, जिनमें सामने आया कि पिछले दो साल में राज्य में प्रतिदिन औसतन दो हत्याएं, बलात्कार की चार और अपहरण की छह घटनाएं हुईं हैं.

राज्य के गृह विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, 31 दिसंबर 2020 तक, पिछले दो साल में राज्य के विभिन्न हिस्सों में 1,944 हत्याएं, 1,853 हत्या के प्रयास, 3,095 बलात्कार, अपहरण के 4,829 मामले और आत्महत्या के 14,000 से अधिक मामले सामने आए.

विधानसभा के बजट सत्र में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस के कई विधायकों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में यह जानकारी दी गई.

इसमें ये भी कहा गया है कि इसी अवधि के दौरान राज्य में चोरी की 21,000 से अधिक घटनाएं और लूट की 1,520 घटनाएं भी हुईं.

आंकड़ों से पता चलता है कि सूरत जिले में जहां सबसे ज्यादा 280 हत्याएं हुईं, वहीं अहमदाबाद लूट की 479 और चोरी 5,566 घटनाओं के साथ राज्य में सबसे ऊपर है.

इन दो सालों में बलात्कार की सबसे ज्यादा 620 घटनाएं अहमदाबाद में हुईं, जबकि सूरत में अपहरण के सबसे अधिक 701 मामले सामने आए.

गृह विभाग ने सदन को सूचित किया कि पिछले दो वर्षों के दौरान इन शिकायतों में नामित 4,043 आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना अभी बाकी है.

इसी अवधि के दौरान पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से 65,000 किलोग्राम से अधिक बीफ बरामद किया. पुलिस ने 2,223 गायों और 1,485 बछड़ों को तब मुक्त कराया, जब उन्हें वध के उद्देश्य से ले जाया जा रहा था.

गृह विभाग ने सदन को बताया कि ऐसे अपराधों में शामिल 132 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जाना बाकी है.

विभाग ने अपने लिखित जवाब में कहा यह भी बताया कि पिछले दो वर्षों में 198.30 करोड़ मूल्य की भारत में निर्मित विदेशी शराब (आईएमएफएल) की 15 करोड़ से अधिक बोतलें जब्त की गई हैं.

सदन को यह भी बताया गया कि इस अवधि में विभिन्न साइकोट्रोपिक ड्रग्स, जैसे चरस और हेरोइन 68.60 करोड़ रुपये कीमत की जब्त की गईं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)