भारत

देश के ग़लत नक़्शे को लेकर यूपी पुलिस ने ट्विटर इंडिया के प्रमुख के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज की

दक्षिणपंथी संगठन बजरंग दल की शिकायत के आधार पर खुर्जा थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. आरोप है कि भारत के मानचित्र से लद्दाख और जम्मू एवं कश्मीर को भारत से बाहर दर्शाया गया था. हालांकि, ट्विटर ने सोमवार शाम तक इस नक़्शे को प्लेटफॉर्म से हटा दिया.

 ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी

ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी.

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले की पुलिस ने ट्विटर पर भारत का गलत मानचित्र दिखाने को लेकर ट्विटर के प्रबंध निदेशक मनीष माहेश्वरी सहित दो वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

यह एफआईआर दक्षिणपंथी संगठन बजरंग दल की शिकायत के आधार पर सोमवार शाम को खुर्जा नगर पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की गई है.

दरअसल भारत के मानचित्र से लद्दाख और जम्मू एवं कश्मीर को भारत से बाहर दर्शाया गया है. यह मानचित्र सोमवार को संज्ञान में आया, जिसके बाद ट्विटर के खिलाफ यह कार्रवाई की गई. हालांकि, ट्विटर ने सोमवार शाम तक इस मानचित्र को प्लेटफॉर्म से हटा दिया.

बजरंग दल पश्चिमी यूपी के संयोजक प्रवीण भाटी ने अपनी शिकायत में कहा, ‘इस विश्व मानचित्र में लद्दाख, जम्मू और कश्मीर को भारत के हिस्से के रूप में नहीं दर्शाया गया. यह संयोग नहीं है. इससे मुझ सहित भारतीयों की भावनाएं आहत हुई हैं.’

एफआईआर में ट्विटर इंडिया के एमडी माहेश्वरी और न्यूज पार्टनरशिप प्रमुख अमृता त्रिपाठी आईपीसी की धारा 505 (2) और सूचना प्रोद्यौगिकी अधिनियम की धारा 74 (गलत उद्देश्य के लिए प्रकाशन) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

एफआईआर दर्ज होने के बाद अमृता त्रिपाठी ने ट्वीट कर कहा कि ट्विटर में उनके पास उस तरह की शक्तियां नहीं है, जैसी लोग सोचते हैं कि उनके पास है.

ट्विटर वेबसाइट के ‘करिअर सेक्शन’ में ‘ट्वीप लाइफ’ शीर्षक के तहत दिखाई देने वाले मानचित्र के गलत होने पर सोमवार को लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी और सोशल मीडिया मंच के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी. इससे पहले ट्विटर लेह को चीन का हिस्सा दिखा चुका है.

बीते एक महीने में यूपी पुलिस द्वारा माहेश्वरी के खिलाफ दर्ज की गई यह दूसरी एफआईआर है. इससे पहले गाजियाबाद में बुजुर्ग मुस्लिम की पिटाई के मामले में वीडियो को लेकर भी उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. इस मामले में कर्नाटक हाईकोर्ट ने उन्हें गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा दे दी थी.

मालूम हो कि ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच बीते कुछ महीने से काफी टकराव रहा है. नए आईटी नियमों से लेकर भाजपा के कुछ नेताओं के ट्विट को मैनुपुलेटेड ट्वीट करार देने तक काफी टकराव रहा है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)