दुनिया

नवाज़ शरीफ़ की पत्नी कुलसुम ने जीता लाहौर उपचुनाव

कुलसुम ने इमरान ख़ान की पाकिस्तान तहरीक़-ए-इंसाफ़ पार्टी की उम्मीदवार यास्मीन राशिद को 13 हज़ार से अधिक मतों से हराया.

Kulsoom Nawaz Sharif Facebook

(फोटो साभार: फेसबुक/मरियम नवाज़ शरीफ़)

लाहौर: पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ की बीमार पत्नी ने सोमवार को महत्वपूर्ण लाहौर उपचुनाव में जीत दर्ज की. पनामा पेपर घोटाले में सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ़ को पद के अयोग्य क़रार दे दिया था जिसके बाद हुआ यह चुनाव परिवार के लिए जनता के समर्थन का परीक्षण था.

बेग़म कुलसुम नवाज़ एनए-120 संसदीय सीट से जीती हैं. कुलसुम को क्रिकेटर से नेता बने इमरान ख़ान की पाकिस्तान तहरीक़-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) पार्टी की उम्मीदवार यास्मीन राशिद से कड़ी टक्कर मिली.

Kulsoom Nawaz Sharif Facebook 1

कुलसुम का लंदन में कैंसर का इलाज चल रहा है. उनकी ग़ैरमौजूदगी में उनकी बेटी मरियम नवाज़ ने चुनाव अभियान को संभाला था. (फोटो साभार: फेसबुक/Tardos Times)

इस सीट को शरीफ़ परिवार का गढ़ माना जाता है. 28 जुलाई को शीर्ष अदालत की ओर से शरीफ़ को पद के अयोग्य घोषित किए जाने के बाद यह सीट खाली हुई थी. चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि कुलसुम को 59,413 मत मिले. उन्होंने राशिद को 13,000 से अधिक मतों के अंतर से हराया.

कुलसुम का लंदन में कैंसर का उपचार चल रहा है और उनकी ग़ैरमौजूदगी में उनकी बेटी मरियम नवाज़ ने अपनी मां के चुनाव अभियान को संभाला था.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने बीते 27 जुलाई को इस्तीफा दे दिया था. पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने पनामागेट मामले में उनको पद के अयोग्य ठहराया था. इसके अलावा उनके और उनकी संतानों के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज करने का आदेश दिया.

यह तीसरी बार था जब 67 वर्षीय शरीफ़ का प्रधानमंत्री का कार्यकाल बीच में ही ख़त्म हो गया.