दुनिया

लास वेगास: गोलीबारी में 50 की मौत, आईएस ने ली ज़िम्मेदारी

अमेरिका के इतिहास में गोलीबारी की अब तक हुई सबसे घातक घटना में 400 से ज़्यादा लोग घायल.

People wait in a medical staging area on October 2, 2017, after a mass shooting during a music festival in Las Vegas, Nevada, U.S. REUTERS/Las Vegas Sun/Steve Marcus

लास वेगास में गोलीबारी के बाद पुलिस सुरक्षा में मेडिकल टीम का इंतज़ार करते लोग. (फोटो: स्टीव मारकस/रॉयटर्स)

लॉस एंजिल्स: अमेरिका के लास वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई और 400 से अधिक लोग घायल हो गए. आधुनिक अमेरिकी इतिहास में यह अब तक गोलीबारी की सबसे घातक घटना है. वहीं इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है.

पुलिस ने कहा कि बंदूकधारी की पहचान 64 वर्षीय स्टीफन पैडॉक के तौर पर हुई है. वह स्थानीय निवासी है. स्वाट टीम ने उसे मार गिराया. हमलावर ने एक संगीत समारोह स्थल के बगल में मैंडले बे की 32वीं मंजिल से गोलीबारी की थी.

स्मार्ट फोन से ली गई फुटेज में दिख रहा है कि अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सोमवार सुबह पांच बजे चलाई गईं गोलियों की आवाज़ आने के बाद लोग चिल्लाने लगे और दहशत में भागने लगे.

लास वेगास मेट्रो पुलिस के शेरिफ जोसफ लोमबार्डो ने नेवादा में सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, हम इस वक़्त देख रहे हैं कि 50 से ज़्यादा व्यक्तियों की मौत हुई है और 408 व्यक्ति जख़्मी हुए हैं.

लास वेगास मेट्रोपोलिटन पुलिस विभाग ने एक बयान में बताया कि करीब 406 लोगों को घटनास्थल के आसपास के इलाके के अस्पतालों में ले जाया गया. बहरहाल, यह स्पष्ट नहीं है कि इन 406 लोगों में क्या कोई ऐसा भी व्यक्ति शामिल हैं, जिसे बाद में अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस ने कहा कि पैडॉक लास वेगास से करीब 130 किलोमीटर दूर एक शहर में रहता था. वहीं इस्लामिक स्टेट समूह की प्रचार एजेंसी ने कहा कि समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है.

उन्होंने कहा कि ज़ाहिर तौर पर यह दुखद घटना है और इस तरह की है जिसका हमने कभी अनुभव नहीं किया था. लोमबार्डो ने कहा कि पुलिस और एफबीआई अब भी पैडॉक की भूमिका की जांच कर रही है लेकिन होटल में जो कमरा उसने लिया हुआ था उसमें कम से कम 10 राइफलें मिली हैं.

पुलिस ने कहा कि पैडॉक ने प्रसिद्ध लास वेगास स्ट्रिप में स्थित एक बड़े होटल की 32वीं मंजिल से नीचे भीड़ पर गोलीबारी की. लोमबार्डों ने कहा कि पैडॉक की एक महिला मित्र के बारे में पता लगा है. इसको एक ऐसी शख़्सियत बताया गया है जो पुलिस के काम की हो सकती है.

मैंडले बे के बराबर में हज़ारों प्रशंसक संगीत समारोह में शिरकत कर रहे थे. यह तीन दिवसीय लोक संगीत उत्सव का हिस्सा है जिसे ‘रूट 91’ के तौर पर जाना जाता है.

ह्वाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को इस भयावह घटना के बारे में जानकारी दे दी गई है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्विटर पर पीड़ितों और परिवारों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर की है. पोप फ्रांसिस ने कहा कि निर्मम त्रासदी से वह बेहद दुखी हैं जबकि ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने इसे भयावह हमला करार दिया.

चश्मदीदों ने बताया कि पैडॉक ने पहले देर तक गोलीबारी की और फिर से लगता है कि उसने बंदूक को रीलोड किया और फिर से गोलीबारी की. मोनिक डिकर्फ ने सीएनएन को बताया, हमने कांच टूटने जैसी आवाज सुनी तो हम यहां-वहां यह देखने लगे कि क्या हुआ है और फिर सुना की गोली चली, गोली चली, गोली चली.

उस समय लोकप्रिय गायक जेसन एल्डीन स्टेज पर थे और जब गोलीबारी शुरू हुई तब वह अपना संगीत समारोह ख़त्म करने वाले थे. हताहतों की अंतिम संख्या की अभी पुष्टि होनी है लेकिन अमेरिका के इतिहास में यह गोलीबारी की सबसे घातक घटना बन गई है.

Las Vegas Metro Police and medical workers stage in the intersection of Tropicana Avenue and Las Vegas Boulevard South after a mass shooting at a music festival on the Las Vegas Strip in Las Vegas, Nevada, U.S. October 1, 2017. REUTERS/Las Vegas Sun/Steve Marcus - RC1BEC59EC90

लास वेगास में गोलीबारी के बाद घटना स्थल पर पहुंची पुलिस और मेडिकल टीम. (फोटो: स्टीव मारकस/रॉयटर्स)

गायक जेसन एल्डीन ने इस घटना को बेहद भयावह बताया. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर लिखा कि यह काफी भयानक घटना थी और वह नहीं जानते कि इसके बारे में क्या कहा जाए. उन्होंने कहा कि उनके बैंड के सभी लोग सुरक्षित हैं. 40 वर्षीय एल्डीन ने भी पीड़ितों को श्रद्धांजलि दी और कहा कि यह काफी दुखद है कि लोग आनंद के लिए वहां आए थे लेकिन वहां ऐसी घटना हुई.

गोलीबारी की पिछली सबसे घातक घटना जून 2016 में हुई थी. जब आॅरलैंडो के एक नाइट क्लब में गोलीबारी में 49 लोगों की मौत हुई थी.

इस्लामिक स्टेट ने ली ज़िम्मेदारी

बेरूत: इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह ने दावा किया है कि अमेरिका के लास वेगास में गोलीबारी की घटना को उसके एक सिपाही ने अंजाम दिया है जिसने कई महीने पहले इस्लाम स्वीकार कर लिया था.

आईएस की प्रचार एजेंसी अमाक ने ऑनलाइन बयान में कहा, लास वेगास हमले को अंजाम देने वाला इस्लामिक स्टेट का एक सिपाही है और उसने जेहादियों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई में शामिल देशों से बदला लेने के लिए इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है. अपने इस दावे के पक्ष में आईएस ने कोई साक्ष्य पेश नहीं किया है.

पुलिस को संदेह है कि हमलावर ने ख़ुद को भी ख़त्म कर लिया

पुलिस ने कहा कि उसका मानना है कि गोलीबारी करने वाले व्यक्ति ने होटल में उसके कमरे तक अधिकारियों के पहुंचने के पहले ही ख़ुद को भी ख़त्म कर लिया.

शेरिफ जोसफ लोमबार्डो ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, हमारा मानना है कि उस व्यक्ति ने हमारे पहुंचने के पहले ही ख़ुद को ख़त्म कर लिया. उन्होंने कहा कि अधिकारियों को उसके कमरे से 10 से ज़्यादा राइफलें मिली हैं। उसने होटल की 32वीं मंजिल से गोलीबारी की थी.