भारत

भारत का व्यापार घाटा तीन साल के उच्चतम स्तर पर है: कांग्रेस

कांग्रेस ने आर्थिक बदहाली पर पीएम से मांगा जवाब, कहा- निर्यात तीन साल के निचले स्तर पर, जबकि मुद्रास्फीति छह माह के उच्चतम स्तर पर है.

RPN Singh

कांग्रेस प्रवक्ता आरपीएन सिंह प्रेस कांफ्रेंस करते हुए. (फोटो: ट्विटर/कांग्रेस)

नई दिल्ली: कांग्रेस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश में आर्थिक बदहाली पैदा करने को लेकर निशाना साधा और मांग की कि सरकार को अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए तुरंत कदम उठाने चाहिए एवं महंगाई पर लगाम लगानी चाहिए.

कांग्रेस प्रवक्ता आरपीएन सिंह ने बढ़ते कथित व्यापार घाटे पर चिंता जताई और कहा कि निर्यात में गिरावट आने के साथ यह तीन साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मुद्रास्फीति छह माह के उच्चतम स्तर पर है जो आम आदमी को बुरी तरह कचोट रही है.

उल्लेखनीय है कि अक्टूबर में जहां व्यापार घाटा बढ़कर लगभग तीन साल के उच्च स्तर 14 अरब डालर पर पहुंच गया, वहीं थोक मुद्रास्फीति अक्टूबर में छह महीने के उच्च स्तर 3.59 प्रतिशत हो गई है.

उन्होंने कहा, भारत का व्यापार घाटा तीन साल के उच्च स्तर पर है. निर्यात घट रहा है तथा मेक इन इंडिया योजना महज एक नारा बनकर रह गई है. क्या मोदी जी जवाब देंगे?

सिंह ने कहा, अब समय आ गया है कि मोदी सरकार मुद्रास्फीति एवं निर्यात जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर ठोस नीतिगत निर्णय करे. उन्होंने कहा कि बढ़ते मूल्यों के कारण आम आदमी की बचत में सेंध लगी है. उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार ने विदेश में भारत की छवि को धूमिल किया है क्योंकि गिरते निर्यात की काली छाया व्यापार एवं वाणिज्य पर पड़ी है.

सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने एक के बाद एक झटके दिए हैं तथा भारतीय अर्थव्यवस्था को अव्यवस्थित कर दिया है. उन्होंने यह भी कहा कि मोदीनोमिक्स ने देश के मजबूत व्यापार आधार को कमजोर किया और उसकी छवि को धूमिल किया.