राजनीति

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को लेकर रहस्य बरक़रार, भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक दिल्ली लौटे

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और पांच बार के विधायक जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री पद की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैं.

निर्मला सीतारमण, प्रेम कुमार धूमल के साथ भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ बैठक में ( फोटो साभार: पीटीआई)

केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, भाजपा नेता प्रेम कुमार धूमल के साथ पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ. (फोटो: पीटीआई)

शिमला: हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री को लेकर बना रहस्य शुक्रवार को भी जारी रहा. भाजपा का दो सदस्यीय केंद्रीय पर्यवेक्षक दल राज्य के वरिष्ठ नेताओं के साथ विचार-विमर्श करने के बाद तथा नव निर्वाचित विधायकों के साथ औपचारिक बैठक किए बिना दिल्ली लौट गया.

केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और नरेंद्र सिंह तोमर और हिमाचल प्रदेश भाजपा मामलों के प्रभारी मंगल पांडे पीटरहॉफ में प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से मिले. पार्टी सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय पर्यवेक्षक पार्टी आलाकमान को एक रिपोर्ट सौंपेंगी और नए मुख्यमंत्री को लेकर जल्द ही घोषणा की जाएगी.

पर्यवेक्षक मीडियाकर्मियों से नहीं मिले और अगले मुख्यमंत्री के नाम को लेकर कोई संकेत दिए बिना ही दिल्ली निकल गए.

पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं कांगड़ा के सांसद शांता कुमार, मंडी के सांसद राम स्वरूप, शिमला के सांसद वरिंदर कश्यप और शिमला के चार बार के विधायक सुरेश भारद्वाज पर्यवेक्षकों से मिले और उन्होंने अपने विचार रखे.

पार्टी नेताओं ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और पांच बार के विधायक जयराम ठाकुर पद की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैं और पर्यवेक्षकों द्वारा सौंपी जाने वाली रिपोर्ट पर विचार करने के बाद नेता के नाम की घोषणा कर दी जाएगी.

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रेम कुमार धूमल पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार थे लेकिन सुजानपुर सीट से उनके चुनाव हारने के बाद नेतृत्व का मुद्दा सामने आया है.