भारत

‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के नाम पर दो लाख लोगों से ठगी

उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, पंजाब और बिहार में ठगी का मामला सामने आने के बाद मामले की सीबीआई जांच करवाने की मांग महिला और बाल विकास मंत्रालय ने की है.

Beti Bachao Beti Padhao

हरियाणा में पानीपत से साल 2015 को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. (फाइल फोटो)

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने केंद्र की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ (बीबीबीपी) योजना के नाम पर कथित रूप से पांच राज्यों के करीब दो लाख लोगों से ठगी का खुलासा होने के बाद सीबीआई से मामले की जांच की मांग की है.

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार मंत्रालय को दो लाख से अधिक फर्जी फॉर्म मिले थे जिसे लोगों ने योजना के तहत नकद लाभ मांगने के लिए भरा था. इसके बाद यह कदम उठाया गया.

एक आधिकारिक बयान में मंगलवार को कहा गया, योजना के तहत नकद लाभ का कोई प्रावधान नहीं है. इन लोगों से इन अवैध फॉर्म के लिए पैसे लिए गए, व्यक्तिगत ब्योरे लिए गए और उन्हें यह मानने के लिए गुमराह किया गया कि वे मौद्रिक लाभ के लिए दावा कर सकते हैं.

इसमें कहा गया, जनहित और मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए मामला अब सीबीआई के पास भेज दिया गया है.

जिन पांच राज्यों में ये फॉर्म बेचे गए उनमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, पंजाब और बिहार शामिल हैं. इससे पहले मंत्रालय ने भी इन राज्यों की सरकारों के सामने मामला उठाया था.