भारत

बलात्कार के आरोपों से घिरे गुजरात के भाजपा उपाध्यक्ष ने दिया इस्तीफ़ा

सूरत की रहने वाली एक युवती ने पुलिस आयुक्त कार्यालय में 10 जुलाई को आवेदन देकर भाजपा उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक जयंतीभाई भानुशाली के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करने की मांग की थी.

भाजपा उपाध्यक्ष जयंतीभाई भानुशाली (फोटो साभार: फेसबुक/जयंतीभाई भानुशाली)

भाजपा उपाध्यक्ष जयंतीभाई भानुशाली (फोटो साभार: फेसबुक/जयंतीभाई भानुशाली)

अहमदाबाद: पूर्व विधायक जयंती भानुशाली ने बलात्कार का आरोप लगने के बाद गुजरात भाजपा के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है.

कच्छ जिले के 53 वर्षीय नेता ने राज्य भाजपा अध्यक्ष जीतू वघानी को भेजे अपने इस्तीफे में इस आरोप से इनकार करते हुए दावा किया है कि उनकी छवि को खराब करने की साजिश हो रही है.

भाजपा ने एक बयान में दावा किया कि राज्य भाजपा अध्यक्ष ने भानुशाली का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है.

भानुशाली ने अपने इस्तीफा-पत्र में कहा है, ‘ऐसा प्रतीत होता है कि पुलिस को दिया गया आवेदन मेरी छवि खराब करने की साजिश है. मेरे और मेरे परिवार के ऊपर लगाए गए आरोप आधारहीन हैं. जब तक मैं अपने ऊपर लगे आरोपों से मुक्त होकर बाहर नहीं निकल जाता हूं, मैं पार्टी से अपील करता हूं कि वह मुझे जिम्मेदारियों से मुक्त करे.’

सूरत की रहने वाली एक युवती ने पुलिस आयुक्त कार्यालय में 10 जुलाई को एक आवेदन जमा किया था जिसमें उसने भानुशाली के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करने की मांग की है.

सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया कि मामले में अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

युवती ने भानुशाली पर आरोप लगाया है कि उसने पिछले नवंबर से अब तक उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया. महिला का दावा है कि भानुशाली ने उससे वादा किया था कि वह प्रतिष्ठित फैशन डिजाइनिंग कॉलेज में उसका दाखिला कराएंगे.

भाजपा विधायक की पत्नी का दावा, पति के हैं छात्रा से विवाहेत्तर संबं

जम्मू: दूसरी ओर, जम्मू-कश्मीर में भाजपा के एक विधायक की पत्नी ने शुक्रवार को अपने पति पर एक कॉलेज छात्रा से विवाहेत्तर संबंध रखने और उससे शादी करने का सार्वजनिक रूप से आरोप लगाया.

इस मामले में यह नया मोड़ है क्योंकि इसी प्रकरण में विधायक पार्टी की अनुशासन समिति के सामने पेश हो चुके हैं.

जम्मू जिले की आरएस पुरा सीट से भाजपा विधायक गगन भगत पर उनकी पत्नी मोनिका शर्मा ने आरोप लगाया कि वे छात्रा से शादी करके उसके साथ रह रहे हैं.

मोनिका भाजपा की महिला शाखा की प्रदेश सचिव भी हैं.

छात्रा के पिता भी भगत पर पंजाब के एक कॉलेज से उनकी बेटी का अपहरण करने का आरोप लगा चुके हैं. छात्रा के पिता पूर्व सैनिक हैं. छात्रा और विधायक ने आरोपों से इंकार किया है और इसे उन्हें बदनाम करने का प्रयास बताया.

विधायक की पत्नी मोनिका ने भगत के इस दावे को खारिज किया कि वे उन्हें हर महीने एक लाख रुपये दे रहे हैं. मोनिका ने कहा, ‘अप्रैल में न्यायाधीश के सामने गुजारा भत्ता फॉर्म पर हस्ताक्षर करने के बावजूद उन्होंने एक पैसा भी नहीं दिया.’

उन्होंने भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा, ‘आपके अपने परिवार की बेटी न्याय मांग रही है , न केवल अपने और अपने बच्चों के लिए, बल्कि उस लड़की के लिए भी जो बस 19 साल की है.’

मोनिका ने कहा कि उनकी और भाजपा विधायक की शादी 13 साल पहले हुई थी. उनके इन आरोपों से एक दिन पहले गुरूवार को भगत ने जम्मू में भाजपा की अनुशासन समिति के सामने पेश होकर अपनी स्थिति स्पष्ट की थी. भगत और मोनिका समिति के सामने अलग-अलग पेश हुए. इस दौरान छात्रा के दादा के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ.

विधायक ने आरोपों से इनकार करते हुए दावा किया है कि वह और उनकी पत्नी तलाक लेने की प्रक्रिया में हैं.

हालांकि, भगत की पत्नी ने इस दावे का खंडन करते हुए संवाददाताओं से कहा कि वे भले ही करीब दस महीने से अलग रह रही हैं लेकिन किसी अदालत में तलाक का कोई मामला दायर नहीं हुआ है.

इस दौरान मोनिका के साथ उनका 12 साल का बेटा और चार साल की बेटी मौजूद थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments