भारत

यूपी के मदरसों को निर्देश: स्वतंत्रता दिवस मनाएं, भारत माता की जय बोलें

उत्तर प्रदेश शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने मदरसों को ये आदेश दिया है. वहीं राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी का कहना है कि जो भारतवर्ष में पैदा हुआ है, उसे तो ‘भारत माता की जय’ बोलना ही चाहिए.

Children belonging to Rohingya Muslim community read Koran at a madrasa, or a religious school, at a makeshift settlement, on the outskirts of Jammu, May 6, 2017. Picture taken on May 6, 2017. REUTERS/Mukesh Gupta

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

लखनउ: उत्तर प्रदेश शिया वक़्फ़ बोर्ड ने अपने तहत चल रहे सभी मदरसों से कहा है कि वे स्वतंत्रता दिवस मनाएं और झंडारोहण एवं राष्ट्रगान के बाद ‘भारत माता की जय’ का उद्घोष करें.

उत्तर प्रदेश शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने मदरसों को आदेश दिया कि शिया वक़्फ़ बोर्ड के तहत चल रहे सभी मदरसे स्वतंत्रता दिवस मनाएं.

झंडारोहण और राष्ट्रगान के बाद ‘भारत माता की जय’ का उद्घोष करें. बोर्ड ने चेतावनी दी है कि आदेश का पालन सुनिश्चित नहीं करने वाले मदरसों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा कि वक़्फ़ की संपत्तियों पर प्रदेश में 1500 मदरसे और स्कूल चल रहे हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी क्या ऐसा ही आदेश जारी किया है, इस सवाल पर राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया.

उन्होंने कहा कि जो भारतवर्ष में पैदा हुआ है, उसे तो भारत माता की जय बोलना ही चाहिए.

उन्होंने बताया कि हमने आदेश जारी किया है कि 15 अगस्त को तिरंगा फहराया जाए. स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किया जाए.

छात्र-छात्राओं को शहीदों की शहादत के बारे में बताया जाए और पौधरोपण किया जाए. इस सवाल पर कि क्या यह कदम मुसलमानों की देशभक्ति परखने के लिए उठाया गया है, मंत्री ने कहा कि निश्चित तौर पर नहीं.

चौधरी ने कहा कि यह विभागीय आदेश है, और कुछ नहीं.