राजनीति

मोदी के ख़िलाफ़ आचार संहिता उल्लंघन मामला: नहीं हुई चुनाव आयोग के फुल कमीशन की एक भी बैठक

चुनाव आयोग के फुल कमीशन में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा और चुनाव आयुक्त अशोक लवासा और सुशील चंद्रा हैं. एक चुनावी रैली में मोदी के संबोधन को लेकर कांग्रेस की पहली शिकायत चुनाव आयोग को पांच अप्रैल को मिली थी.

नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा अपने संबोधनों में आचार संहिता के कथित उल्लंघन करने की कांग्रेस की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करेगा. कांग्रेस ने अपनी याचिका में आचार संहिता के कथित उल्लंघन पर चुनाव आयोग से कार्रवाई करने की मांग की है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी द्वारा आचार संहिता के कथित उल्लंघन के मामले में चुनाव आयोग के फुल कमीशन ने पांच अप्रैल से अभी तक एक भी बैठक नहीं की है.

चुनाव आयोग के फुल कमीशन में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा और चुनाव आयुक्त अशोक लवासा और सुशील चंद्रा हैं. एक चुनावी रैली में मोदी के संबोधन को लेकर कांग्रेस की पहली शिकायत चुनाव आयोग को पांच अप्रैल को मिली थी.

इसके बाद से चुनाव आयोग को चुनावी रैलियों में प्रधानमंत्री के संबोधन के ख़िलाफ़ कांग्रेस से चार और सीपीएम से एक शिकायत मिली. चुनाव आयोग के फुल कमीशन की आमतौर पर सप्ताह में दो बार बैठक होनी होती है, जिसमें आचार संहिता के उल्लंघनों सहित कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होती है. चुनाव आयोग के पास पहली शिकायत आने के बाद से चुनाव आयुक्तों को कम से कम छह बार बैठक करनी चाहिए थी.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी के ख़िलाफ़ पहली शिकायत एक अप्रैल को उनकी वर्धा में हुई रैली के संबंध में थी, जिसमें उन्होंने वायनाड से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के चुनाव लड़ने का उल्लेख करते हुए कहा था कि पार्टी बहुसंख्यक आबादी वाले क्षेत्रों से हटकर वहां चुनाव लड़ रही हैं, जहां बहुसंख्यक अल्पमत में है.

प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ शिकायत मिलने के बाद से चुनाव आयोग के पूर्ण आयोग की एक भी बैठक नहीं होने के इंडियन एक्सप्रेस के ईमेल के जवाब में चुनाव आयोग की प्रवक्ता शेफाली बी शरण ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस सहित चुनाव आयोग के पास लंबित सभी शिकायतों पर कल यानी 30 अप्रैल 2019 को आयोग में बैठक होगी. जरूरत पड़ने पर आयोग की एक अन्य बैठक एक मई 2019 को होगी, जिसमें इन मामलों पर चर्चा होगी.’

मालूम हो कि सोमवार शाम को एक संवाददाता सम्मेलन में चुनाव आयोग के उप चुनाव आयुक्त चंद्र भूषण कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि मोदी, अमित शाह और राहुल गांधी के ख़िलाफ़ शिकायतों पर मंगलवार को सुनवाई होगी. भाजपा ने चौकीदारी चोर है वाक्य का बार-बार इस्तेमाल करने के लिए 16 अप्रैल को राहुल गांधी के ख़िलाफञ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी.

उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन ने कहा कि ऐसे मामलों में बेहद संजीदगी से फैसला लेना होता है और चुनाव आयोग को इस मामले के निस्तारण से पहले व्यापक विचार करना होगा.