भारत

एयर इंडिया ने कर्मचारियों को बिना पूर्व अनुमति के मीडिया से बात करने से मना किया

एयर इंडिया ने अपने आदेश में कहा है कि सीएमडी की मंज़ूरी के बिना कर्मचारी प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक या सोशल मीडिया में कंपनी से संबंधित कोई बयान जारी न करें. आदेश का उल्लंघन करने वाले के ख़िलाफ़ उचित कार्रवाई की जाएगी.

The Air India logo is seen on the facade of its office building in Mumbai, India, July 7, 2017. Credit: Reuters/Danish Siddiqui

(फोटो: रॉयटर्स)

मुंबई: सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने अपने कर्मचारियों को बिना पूर्व अनुमति के मीडिया से बात करने के प्रति आगाह किया है. कंपनी की ओर से कहा गया है ऐसा देखा जा रहा है कि कर्मचारी कंपनी की ग़लत छवि बना रहे हैं.

बीते 30 अप्रैल को कंपनी की ओर से कहा गया कि ऐसा देखा गया है कि कर्मचारियों ने मीडिया से बातें की हैं या एयर इंडिया की पोशाक में वीडियो पोस्ट किया है. इलेक्ट्रॉनिक या सोशल मीडिया पर इस तरह से रखे गए विचारों से कंपनी की छवि ख़राब हो रही है, जबकि ऐसा करने से मना किया जा चुका है.

कंपनी ने कहा, ‘यह फिर से दोहराया जाता है कि कोई भी कर्मचारी निजी अधिकार से या किसी समूह अथवा संगठन के प्रतिनिधि के तौर पर चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) की बिना पूर्व मंज़ूरी के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक या सोशल मीडिया में कंपनी से संबंधित कोई बयान जारी नहीं करेंगे.’

इस संबंध में जारी आदेश पत्र में कंपनी की निदेशक (कर्मचारी) अमृता शरण के हस्ताक्षर हैं. इसमें कहा गया है कि कर्मचारियों को उचित माध्यम से सीएमडी से अनुमति के लिए आवेदन करना होगा. इसमें कहा गया है, ‘इस आदेश के किसी भी उल्लंघन को गंभीरता से लिया जाएगा और उल्लंघन करने वाले के ख़िलाफ़ उचित कार्रवाई की जाएगी.’

बता दें कि हाल ही में एक अधिकारी ने अपने एक बयान में कहा था कि एयर इंडिया के बेड़े से 20 विमानों को परिचालन से बाहर कर दिया गया है. उन्होंने कहा था कि इंजन संबंधी समस्याओं के चलते ऐसा किया. इंजन बदलने के लिए 1500 करोड़ रुपये की ज़रूरत हैं, जो अभी कंपनी के पास है नहीं.

मालूम हो कि घाटे में चल रही एयर इंडिया के बेड़े में 127 विमान हैं. इसमें 45 बड़े विमान (27 बी787 और 18 बी777), जबकि शेष एयरबस ए320 विमान हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)