भारत

मोदी मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश से सबसे ज़्यादा दस मंत्रियों को जगह

मोदी सरकार में उत्तर प्रदेश से दस सांसदों को शामिल किया गया है, जिसमें राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, महेंद्र नाथ पांडे, संतोष कुमार गंगवार, हरदीप  सिंह पुरी, वीके सिंह, साध्वी निरंजन ज्योति, संजीव कुमार बालियान और मुख़्तार अब्बास नक़वी हैं.

30 मई को राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मंत्रिमंडल. (फोटो साभार: एएनआई)

30 मई को राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मंत्रिमंडल. (फोटो साभार: एएनआई)

नई दिल्लीः नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली. उनके साथ कुल 24 कैबिनेट मंत्रियों, 9 राज्य मंत्रियों (स्वतंत्र प्रभार) और 24 राज्य मंत्रियों ने शपथ ली. सरकार के मंत्रिमंडल में सबसे ज्यादा संख्या में उत्तर प्रदेश के नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई.

मोदी मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश से 10 सांसदों को शामिल किया गया है. इन 10 नेताओं में वाराणसी से सांसद मोदी भी शामिल हैं.

मोदी के अलावा लखनऊ से राजनाथ सिंह, अमेठी से स्मृति ईरानी और चंदौली से महेंद्र नाथ पांडे को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है. बरेली से संतोष कुमार गंगवार, उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हरदीप सिंह पुरी को राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) का दर्जा दिया गया है.

वहीं, गाजियाबाद से जनरल वीके सिंह, साध्वी निरंजन ज्योति और मुज़फ़्फ़रनगर से संजीव कुमार बालियान ने राज्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. इलाहाबाद से राज्यसभा सांसद मुख़्तार अब्बास नक़वी ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

इसके बाद महाराष्ट्र से सात और बिहार के छह प्रतिनिधियों को नए मंत्रिमंडल में जगह मिली है.

नई मोदी सरकार में गुजरात, राजस्थान और हरियाणा से तीन-तीन प्रतिनिधियों को मंत्री बनाया गया. वहीं पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश से दो-दो प्रतिनिधियों को मंत्रिमंडल में जगह मिली है. कर्नाटक से चार चेहरों को शामिल किया गया .

नई मंत्रिपरिषद में लगभग सभी राज्यों के प्रतिनिधि शामिल हैं. हालांकि इसमें आंध्र प्रदेश और पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, सिक्किम और त्रिपुरा के किसी भी प्रतिनिधि को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है.

हालांकि मंत्रिमंडल में  कुछ पुराने चेहरों को जगह नहीं दी गई, जिसमें मेनका गांधी, सुरेश प्रभु, जेपी नड्डा, राधा मोहन सिंह, मनोज सिन्हा और अनुप्रिया पटेल हैं.

इस बार मंत्रिमंडल में कुल छह महिलाओं को जगह मिली हैं, जिनमें निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर, स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सरुता और देबोश्री चौधरी हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)