Author Archives

अजय आशीर्वाद महाप्रशस्त

Bihar-Police-DGPPTI-copy

भागलपुर दंगों का ‘दाग’ जिस अधिकारी पर है, नीतीश ने उसे बिहार पुलिस का मुखिया क्यों बनाया?

विवादित पुलिस अधिकारी केएस द्विवेदी की बिहार डीजीपी पद पर नियुक्ति से नाराज़ विपक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भाजपा के दबाव में घुटने टेकने का आरोप लगाया है.

Medical Bribery Scam

मेडिकल कॉलेज रिश्वत घोटाला: दिल्ली-इलाहाबाद के ‘मंदिर’ में ‘प्रसाद’ चढ़ाने का खुलासा

मनचाहे फैसले के लिए ‘प्रसाद तो लगेगा. हम प्रसाद देंगे, प्रसाद तो देना ही है.’ सीबीआई द्वारा हासिल टेप में सरकारी अधिकारियों को रिश्वत देने वालों को यह कहते सुना जा सकता है.

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

गुजरात विधानसभा चुनाव: मोरबी में पाटीदार बिगाड़ सकते हैं भाजपा का खेल

ग्राउंड रिपोर्ट: मोरबी शहर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच राजनीतिक अखाड़ा बन गया है.

Patidar Reuters

उत्तरी गुजरात के गांवों में पाटीदारों का गुस्सा बिगाड़ सकता है भाजपा का खेल

ग्राउंड रिपोर्ट: भाजपा शासन से उपजे मोहभंग के कारण तेज़ मिजाज़ पाटीदारों ने अब आर्थिक मोर्चे पर इसकी नाक़ामियों को सामने रखना शुरू कर दिया है.

dafnala-joti-modi-rupani

चुनाव आयुक्त बनने के बाद भी एके जोती ने गुजरात सरकार से मिला बंगला क्यों नहीं छोड़ा?

एके जोती एक अहम संवैधानिक पद पर नियुक्त होने के बाद भी गुजरात सरकार के बंगले में रहते रहे, जबकि यह पद राजनीतिक पार्टियों और सरकारों से पूर्ण स्वतंत्रता की मांग करता है.

Suresh-mehta

गुजरात मॉडल सिर्फ आंकड़ों की हेराफेरी है: पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता

साक्षात्कार: गुजरात के पूर्व सीएम सुरेश मेहता के अनुसार, मोदी ने ‘वाइब्रेंट गुजरात’ को प्रोपेगेंडा में बदल दिया. बढ़ते क़र्ज़ व स्पष्ट नीतियों के बिना गुजरात रसातल में चला गया है.

Martin Macwan and Ajoy Ashirwad

चौरासी दलित सांसद होने पर भी दलितों की सुनवाई नहीं होती: मार्टिन मैकवान

साल 2047 तक छुआछूत मिटाने को लेकर शुरू हुए अभियान पर मानवाधिकार कार्यकर्ता और गुजरात के नवसर्जन ट्रस्ट के संस्थापक मार्टिन मैकवान से अजय आशीर्वाद की बातचीत.

फोटो साभार: खबोर आॅनलाइन डॉट कॉम

आज़ादी की लड़ाई में संघ की भूमिका पर सवाल उठाने वाली किताब क्यों छपने नहीं देना चाहती है सरकार?

अजय आशीर्वाद बता रहे हैं कि आज़ादी की लड़ाई पर आधारित एक किताब को पिछले दो सालों से भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद प्रकाशन की अनुमति नहीं दे रहा है.