भारत

अफ़ग़ानिस्तान: पंजशीर में पाक हवाई हमले के नाम पर रिपब्लिक और टीवी9 ने वीडियो गेम की क्लिप चलाई

कई भारतीय समाचार चैनलों ने हस्ती टीवी का एक वीडियो ‘एक्सक्लूसिव’ बताते हुए प्रसारित किया और इसके सहारे दावा किया कि पाकिस्तान अफ़ग़ानिस्तान के पंजशीर में हमला कर रहा है. हालांकि बाद में पता चला कि ये वीडियो गेम की फुटेज थी.

नई दिल्ली: विभिन्न समाचार संगठनों के हवाले से बीते दिन खबर आई कि अफगानिस्तान के पंजशीर प्रांत पर भी अब तालिबान ने कब्जा कर लिया है. इस बीच रिपब्लिक टीवी ने हस्ती टीवी (अफगानिस्तान का एक समाचार चैनल) का एक वीडियो ‘एक्सक्लूसिव’ बताते हुए प्रसारित किया.

चैनल ने दावा किया कि पाकिस्तानी एयरफोर्स पंजशीर घाटी में हमला कर रही है और ये उसी का वीडियो है. जबसे तालिबान ने पंजशीर पर कब्जा करने का दावा किया है तबसे कई भारतीय मीडिया संगठनों ने दावा किया कि पाकिस्तान तालिबान के समर्थन में है.

टाइम्स नाउ नवभारत, ज़ी हिंदुस्तान ने भी ये वीडियो चलाया था. हालांकि बाद में उन्होंने इसे हटा लिया था.

ऐसा ही एक वीडियो टीवी-9 भारतवर्ष ने भी चलाया था, जिसे आप 5 मिनट 30 सेकंड पर देख सकते हैं. चैनल ने ये वीडियो पंजशीर में पाकिस्तान के हस्तक्षेप के सबूत के तौर पर पेश किया था.

फैक्ट-चेक

हस्ती टीवी का वीडियो फरहान जाफरी (@Natsecjeff) ने ट्वीट किया था. उन्होंने ट्विटर बायो में खुद को आतंकवाद विरोधी एक्सपर्ट बताया है.

फरहान ने पहले ये वीडियो ट्वीट करते हुए व्यंग्य किया कि ये क्लिप पंजशीर में विद्रोहियों को निशाना बना रही पाकिस्तानी एयरफोर्स की है. लेकिन बाद में उन्होंने बताया कि ये वीडियो गेम का फुटेज है.

फरहान सोशल मीडिया पर पंजशीर में ‘पाकिस्तान के हमले’ को लेकर चल रही गलत सूचनाओं को उजागर कर रहे थे. उन्होंने तुरंत ही ट्वीट कर इस वीडियो की सच्चाई बताई थी. लेकिन कई चैनल उनके पहले ट्वीट को असली मानकर ये वीडियो शेयर कर चुके थे.

रिपब्लिक टीवी ने जो वीडियो चलाया था वो ARMA 3 नामक एक वीडियो गेम का है. नीचे क्लिप में आप वीडियो गेम के दृश्य 1 मिनट 38 सेकंड के बाद देख सकते हैं. रिपब्लिक ने बाद में सोशल मीडिया से यह ब्रॉडकास्ट हटा लिया था.

टीवी-9 भारतवर्ष ने जो वीडियो चलाया है वो भी वीडियो गेम ARMA 3 का ही है. चैनल ने पिछले साल भी शिल्का एयर डिफेंस सिस्टम का इस्तेमाल कर अर्मेनिया MIG 25 को शूट करने के दावे का एक वीडियो चलाया था.

कुल मिलाकर भारतीय मीडिया संस्थानों ने पंजशीर का दृश्य बताते हुए एक वीडियो गेम की क्लिप चलाई. जबसे तालिबान अफगानिस्तान पर काबिज हुआ है तबसे भारतीय मीडिया संगठनों ने कई गलत दावे चलाए हैं. उन पर लिखे ऑल्ट न्यूज़ के फ़ैक्ट-चेक आर्टिकल्स आप यहां पर पढ़ सकते हैं.

रिपब्लिक टीवी ने बाद में एक स्पष्टीकरण जारी करते हुए सारी गलती हस्ती टीवी की बताई. इस पोस्ट में कहीं भी गलत खबर के लिए माफी नहीं मांगी गई कि चैनल ने बिना पुष्टि किए ये वीडियो चलाया.

(यह रिपोर्ट मूल रूप से ऑल्ट न्यूज पर प्रकाशित हुई है)