भारत

झारखंड: दो नाबलिग आदिवासी बहनों से सामूहिक बलात्कार के मामले में सात अन्य आरोपी गिरफ़्तार

घटना गुमला ज़िले के गुरदरी क्षेत्र का है. 15 अक्टूबर को दशहरे के मेले से दो नाबलिग चचेरी बहनें 20 वर्षीय भाई के साथ लौट रहीं थीं. रास्ते में दस आरोपियों ने भाई को मारपीट कर भगा दिया तथा दोनों बहनों को अगवा कर जंगल में उनसे बारी-बारी से सामूहिक बलात्कार किया. इस मामले से जुड़े दो नामज़द आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ़्तार कर चुकी थी, जबकि एक आरोपी ने आत्महत्या कर ली.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

गुमला: झारखंड के गुमला जिले में दशहरे के दिन मेले से लौट रही दो नाबलिग आदिवासी चचेरी बहनों से सामूहिक बलात्कार के आरोपी 10 में से सात अन्य आरोपियों को मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

गुमला के पुलिस अधीक्षक एहतेशाम वकारिब ने को गिरफ्तारियों की सूचना देते हुए बताया कि 15 अक्टूबर को दशहरे के मेले से लौट रहीं दोनों नाबालिग चचेरी बहनों से बलात्कार करने के आरोपी शेष सात व्यक्तियों को पुलिस ने जिले के विभिन्न क्षेत्रों में छापेमारी कर धर दबोचा और सभी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया.

उन्होंने बताया कि गुरदरी थाना क्षेत्र के इस मामले से जुड़े दो नामजद आरोपियों (संदीप उरांव व राजेश उरांव) को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी, जबकि एक आरोपी ने आत्महत्या कर ली.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामले में कुल 10 आरोपी थे. मंगलवार को गिरफ्तार सातों आरोपियों की पहचान सन्नी देवल भगत (20 वर्ष), धर्मचंद भगत (26 वर्ष), सतीश भगत (21 वर्ष), सोमेश्वर भगत (22 वर्ष), अर्जुन उरांव (22 वर्ष), संजय उरांव (25 वर्ष) और महेश उरांव (19 वर्ष) के रूप में की गई है.

उन्होंने बताया कि सभी के खिलाफ बलात्कार से जुड़ी भारतीय दंड संहिता की धारा 376 डीए, जान से मारने की कोशिश की धारा 307/509 एवं पोक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

15 अक्टूबर की रात्रि दशहरे के मेले से लौटने के दौरान तीन मोटरसाइकिल सवार दस आरोपियों ने इनके 20 वर्षीय भाई को मारपीट कर भगा दिया था तथा दोनों नाबालिग बहनों को अगवा कर जंगल में ले जाकर उनसे बारी-बारी से सामूहिक बलात्कार किया था.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, गुमला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एहतेशाम वकारिब ने बताया कि आरोपियों ने मेले से लौटने के दौरान उन्हें रोका और लड़कियों पर भद्दी-भद्दी टिप्पणियां कीं. इसका विरोध करने पर आरोपी ने भाई के साथ मारपीट की. हालांकि, वह खुद को छुड़ाने में कामयाब रहा और मदद के लिए अपने गांव पहुंचा.

उन्होंने बताया कि फिर आरोपियों ने दोनों लड़कियों को पीटा, उन्हें पास के दूसरे स्थान पर ले गए और फिर उनके साथ बलात्कार किया. लड़कियां दो आरोपियों की पहचान कर सकी थीं, जिन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)