भारत

इंडिया टुडे ने न्यूज़लॉन्ड्री के ख़िलाफ़ मानहानि का केस दायर किया, दो करोड़ रुपये हर्जाना मांगा

न्यूज़लॉन्ड्री के सह-संस्थापक और सीईओ अभिनंदन सेखरी ने इस मुक़दमे को लेकर कहा कि यह परेशान करने वाली बात है कि ऐसा उन लोगों द्वारा किया जा रहा है, जिन्हें प्रेस और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए खड़ा होना चाहिए. इससे पहले बीते महीने इंडिया टुडे ग्रुप द्वारा कॉपीराइट उल्लंघन की शिकायत किए जाने पर यूट्यूब ने न्यूज़लॉन्ड्री के यूट्यूब चैनल को फ्रीज़ कर दिया था.

(फोटो साभार: फेसबुक/न्यूजलॉन्ड्री)

नई दिल्ली: इंडिया टुडे ने कॉपीराइट उल्लंघन और मानहानि का आरोप लगाते हुए स्वतंत्र न्यूज मीडिया कंपनी न्यूजलॉन्ड्री के खिलाफ केस दायर कर दो करोड़ रुपये के हर्जाने की मांग की है.

इससे करीब एक महीने पहले इंडिया टुडे ग्रुप द्वारा कॉपीराइट उल्लंघन की शिकायत किए जाने पर यूट्यूब ने इसके (न्यूजलॉन्ड्री) चैनल को फ्रीज यानी स्थगित कर दिया था.

न्यूजलॉन्ड्री के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अभिनंदन सेखरी ने द वायर  को बताया कि मुकदमे की प्रति शिकायतकर्ता के वकील हृषिकेश बरुआ ने बीते सोमवार (25 अक्टूबर) को रात 10:41 बजे भेजी थी.

सेखरी ने कहा कि इंडिया टुडे ने कई आपत्तियां उठाई हैं. उन्होंने कहा, ‘जैसे कि हम उनके एंकरों का मजाक क्यों उड़ा रहे हैं, उनकी रिपोर्ट पर टिप्पणी करने से लेकर हमारी कमेंट्री के लिए फुटेज का उपयोग करने तक चैनल ने आपत्ति दर्ज कराई है.’

न्यूजलॉन्ड्री के सीईओ ने कहा कि ये शिकायत कई सैकड़ों पेज की है, जिसमें उन्होंने कहा है कि ‘हमने उनके एंकर के खिलाफ ऐसा क्यों बोला, हमने उनके एंकर का मुंह बंद करके क्यों दिखाया, वगैरह, वगरैह.’

सेखरी ने कहा, ‘यह काफी परेशान करने वाली बात है कि इस तरह के लोग ऐसा कर रहे हैं, जिन्हें प्रेस की स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए खड़ा होना चाहिए.’

उन्होंने आगे कहा, ‘जो मुकदमा दायर किया गया है, उसे देखते हुए यह बेहद चिंताजनक है कि ये वो लोग हैं जिन्हें इस देश में प्रमुख समाचार चैनल माना जाता है. यह प्रेस की स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के प्रति उनकी समझ और प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करता है. उनकी पत्रकारिता के बारे में जितना कम कहा जाए उतना अच्छा है.’

India Today versus Newslaun… by The Wire

उन्होंने कहा कि ट्विटर, फेसबुक और यूट्यूब के अलावा नौ लोगों को केस में पक्षकार बनाया गया है.

सेखरी ने कहा, ‘यह भी दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्होंने हृदयेश जोशी का भी नाम लिया है, जो एक फ्रीलांसर हैं और जिनके पीछे कोई संगठन नहीं खड़ा है. लेकिन हम उनका बचाव करेंगे. वे हमारे लिए लिखते हैं और उन्होंने हमारे लिए कई रिपोर्ट लिखी हैं. न्यूजलॉन्ड्री उसके सभी कानूनी खर्चों और आवश्यकताओं का ध्यान रखेगा. जब भी मामला सूचीबद्ध होगा हम अदालत में अपना जवाब दाखिल करेंगे.’

इस महीने की शुरुआत में द वायर  ने बताया था कि इंडिया टुडे द्वारा ‘कॉपीराइट उल्लंघन’ के लिए रिपोर्ट किए जाने के बाद न्यूजलॉन्ड्री के यूट्यूब चैनल को सस्पेंड कर दिया गया था.

इन आरोपों को खारिज करते हुए न्यूजलॉन्ड्री ने तब दावा किया था कि उन्हें अपना काम करने से रोकने के लिए उन्हें टार्गेट किया जा रहा है. तब भी सेखरी ने कहा था कि यूट्यूब से शिकायत करने से पहले इंडिया टुडे ग्रुप ने न्यूजलॉन्ड्री से संपर्क नहीं किया था.