भारत

उत्तर प्रदेश: दलित नाबालिग किशोरी के साथ बलात्कार और हत्या के आरोप में दो गिरफ़्तार

उत्तर प्रदेश के गोंडा ज़िले के नवाबगंज थाना क्षेत्र का मामला है. पुलिस के मुताबिक, 17 वर्षीय दलित किशोरी का शव एक खेत में बरामद किया गया. सर्विलांस के आधार पर मामले में तीन आरोपियों की संलिप्तता का पता चला था. तीसरे आरोपी की तलाश में एक पुलिस टीम लगाई गई है.

(प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई)

गोंडा: उत्तर प्रदेश की गोंडा पुलिस ने बीते शनिवार को 17 वर्षीय दलित लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और हत्या के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार किया है. मामले का तीसरा आरोपी फरार है. यह घटना तब हुई जब वह किसी काम से बाहर गई थी.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी, जिसके खिलाफ पहले 25,000 रुपये के इनाम की घोषणा की गई थी, को एक संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने कहा कि उसे पैर में गोली लगी है और उसका इलाज चल रहा है.

पुलिस के मुताबिक, ‘तीन फरवरी की रात उन्होंने नाबालिग लड़की का शव एक खेत में बरामद किया था.’

पुलिस ने कहा, ‘उसके चेहरे पर चोट के निशान थे. प्रारंभिक जांच के दौरान यह पाया गया कि लड़की की हत्या से पहले उसका यौन उत्पीड़न किया गया था.’

पिता की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार व हत्या के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है.

पुलिस कहा, ‘सर्विलांस की मदद से पुलिस को मामले में तीन लोगों की संलिप्तता का पता चला. बाद में अलग-अलग मुठभेड़ों में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया.’

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि पुलिस को अभी तक आरोपी का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है.

अधिकारी ने कहा, ‘गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से एक लड़की का पड़ोसी है, जबकि दूसरा पड़ोसी गांव का रहने वाला है. आरोपी में से एक लड़की को जानता था.’

पुलिस ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि लड़की की गला घोंटकर हत्या की गई है.

अमर उजाला के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपियों को अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां से दोनों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. प्रशासन ने पीड़ित परिवार को 4 लाख 12 हजार 500 रुपये की आर्थिक सहायता दी है.

रिपोर्ट के मुताबिक, थाना नवाबगंज क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 17 वर्षीय दलित किशोरी शौच जाने को कहकर घर से निकली थी. आरोप है कि गांव के एक बागीचे में महेश यादव समेत तीन युवकों ने उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया था. इसके बाद तीनों आरोपियों ने फंसने के डर से किशोरी की गला घोंटकर हत्या कर दी.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किशोरी की दम घुटने से मौत की पुष्टि हुई है. तरबगंज सीओ संसार सिंह लाठी के मुताबिक, पकड़े गए दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि सामूहिक बलात्कार के बाद फंसने के डर से तीनों ने मिलकर किशोरी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी.

उन्होंने बताया कि फरार चल रहे आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम लगाई गई है.