राजनीति

बिहार: युवती के अपहरण के आरोप में भाजपा विधायक के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज

युवती की मां की शिकायत पर पटना के अगमकुआं थाने में पश्चिमी चंपारण के लौरिया से भाजपा विधायक विनय बिहारी, उनकी पत्नी और भतीजे के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है. उन पर 25 वर्षीय युवती के अपहरण का आरोप है. विधायक ने कहा कि यह उनके ख़िलाफ़ साज़िश है. यह प्रेम संबंध का मामला है. उनका इससे कोई लेना-देना नहीं है.

पश्चिमी चंपारण के लौरिया से विधायक विनय बिहारी. (फोटो साभार: ट्विटर/@vinaybiharibjp)

पटना: बिहार में 25 वर्षीय युवती के अपहरण के आरोप में रविवार को भाजपा विधायक विनय बिहारी के खिलाफ राजधानी पटना में मुकदमा दर्ज किया गया. पुलिस ने यह जानकारी दी.

पुलिस ने बताया कि युवती की मां की शिकायत पर अगम कुआं थाने में विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

थाने के एसएचओ बिपिन बिहारी ने कहा, ‘युवती के अपहरण के आरोप में पश्चिमी चंपारण के लौरिया से विधायक के अलावा दो अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है.’

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, प्राथमिकी में उनकी पत्नी चंचला और साले के बेटे राजीव सिंह को भी आरोपी बनाया गया है.

शिकायतकर्ता का आरोप है कि साजिश के तहत आरोपी ने उनकी बेटी का अपहरण कर लिया है. प्राथमिकी (27/2022) आईपीसी की धारा 120बी (आपराधिक साजिश) और 366 (अपहरण, अपहरण या महिला को शादी के लिए मजबूर करने के लिए प्रेरित करना) के तहत दर्ज की गई है.

युवती की मां ने कहा कि उनकी बेटी नौ फरवरी को परीक्षा के लिए कॉलेज के लिए निकली थी, लेकिन उसके बाद से लापता है.

पीड़िता की मां ने दावा किया, ‘उस दिन जब वह दोपहर तीन बजे तक नहीं लौटी तो मैंने उसे फोन किया, लेकिन उसका मोबाइल बंद मिला. करीब तीन बजकर 10 मिनट पर हमें उसके फोन से एक संदेश मिला, जिसमें एक नंबर पर संपर्क करने के लिए कहा गया. जब मैंने उस नंबर पर फोन किया तो भाजपा विधायक विनय बिहारी ने फोन उठाया.’

उन्होंने आरोप लगाया कि विधायक ने लापता बेटी के उनके भतीजे के साथ होने की बात कही थी.

पुलिस ने कहा कि युवती की मां रेखा कुमारी द्वारा लगाए गए आरोपों के आधार पर मामले की जांच की जा रही है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, उन्होंने यह भी कहा कि विधायक ने उन्हें धमकी दी और कहा कि वह जहां चाहें शिकायत दर्ज कराएं.

पुलिस ने कहा कि भूतनाथ रोड निवासी रेखा ने आरोप लगाया कि वह महात्मा गांधी नगर स्थित राजीव सिंह के आवास पर भी गई थीं, जहां उनके माता-पिता ने बताया कि उसकी बेटी के बारे में भाजपा विधायक और उनकी पत्नी ही कुछ बता सकते हैं.

इस बीच, भाजपा विधायक ने कहा कि उसका अपने भतीजे के साथ लड़की को भगाने से कोई लेना-देना नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘यह मुझे बदनाम करने के लिए सिर्फ एक राजनीतिक साजिश है. लड़की ने 2019 में मेरे नंबर पर कॉल किया कि वह मेरे भतीजे राजीव से प्यार करती है और अगर उसका परिवार किसी और से शादी करता है तो वह आत्महत्या कर लेगी. यह एक प्रेम संबंध है. शिकायत दर्ज की जानी चाहिए लेकिन लड़का और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ. मुझे नहीं पता कि लड़की की मां ने मेरा नाम इस विवाद में क्यों घसीटा.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)