दुनिया

रूसी हमले के बाद यूक्रेन से विस्थापित होने वाले लोगों की संख्या 45 लाख पहुंची: संयुक्त राष्ट्र

शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त द्वारा रविवार को अपने पोर्टल पर अपडेट की गई जानकारी के मुताबिक़, 24 फरवरी से अब तक 45.04 लाख लोग यूक्रेन छोड़ चुके हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

जिनेवा: संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने कहा है कि रूसी हमले के बाद से यूक्रेन छोड़कर जाने वालों की संख्या 45 लाख हो गई है.

शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) द्वारा रविवार को अपने पोर्टल पर अपडेट की गई जानकारी के मुताबिक 24 फरवरी से अब तक 45.04 लाख लोग यूक्रेन छोड़ चुके हैं.

जानकारी के मुताबिक करीब 26 लाख लोग पोलैंड गए और 6,86,000 से अधिक रोमानिया गए हैं.

हालांकि, यूएनएचसीआर ने रेखांकित किया कि यूरोपीय संघ के ऐसे बहुत कम देश हैं जो सीमा को नियंत्रित करते हैं और ऐसा माना जाता है कि बड़ी संख्या में लोग रास्ते में सबसे पहले पड़ने वाले देशों में गए.

संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी के अनुसार, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यूरोप में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में शरणार्थी आए हैं.

बिजनेस स्टैंडर्स के मुताबिक, यूएनएचसीआर ने कहा कि जो लोग भाग गए हैं उनमें से 90 प्रतिशत महिलाएं और बच्चे हैं, क्योंकि 18-60 वर्ष की आयु के अधिकांश पुरुषों को यूक्रेन छोड़ने की अनुमति नहीं है क्योंकि उन्हें वहां रहना चाहिए और देश की सेना में शामिल होना चाहिए.

इसमें कहा गया है कि पोलैंड वर्तमान में यूक्रेन से शरणार्थियों की सबसे बड़ी संख्या की मेजबानी कर रहा है, जिसमें 2,593,902 लोग आक्रमण की शुरुआत के बाद से देश में प्रवेश किया था.

पोलैंड में पंजीकृत शरणार्थियों में 94 प्रतिशत महिलाएं और बच्चे हैं.

संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थियों के लिए काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संगठन (आईओएम) के अनुसार, लगभग 210,000 गैर-यूक्रेनी भी देश छोड़कर भाग गए हैं.

आईओएम द्वारा 5 अप्रैल को प्रकाशित आंकड़ों से पता चला है कि अतिरिक्त 71 लाख लोग या कुल आबादी का एक चौथाई से अधिक देश के भीतर विस्थापित हो गए हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)