दुनिया

ट्विटर ने सरकार के अनुरोध पर स्तंभकार के अकाउंट पर रोक लगाई

पत्रकार और स्तंभकार सीजे वेरलेमैन ‘इस्लामोफोबिया’ और संघर्ष एवं आतंकवाद जैसे मुद्दों पर लिखा करते हैं. वेरलेमैन ने कहा है कि नरेंद्र मोदी की धुर-दक्षिणपंथी, हिंदू फासीवादी शासन की मांग पर भारत में उनके ट्विटर अकाउंट पर रोक लगा दी गई है.

सीजे वेरलेमैन. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अनुरोध पर पत्रकार और स्तंभकार सीजे वेरलेमैन के अकाउंट पर रोक लगा दी है. वह ‘इस्लामोफोबिया’ और संघर्ष एवं आतंकवाद जैसे मुद्दों पर लिखा करते हैं.

स्तंभकार के ट्विटर हैंडल पर एक संदेश में पढ़ा जा सकता है, ‘सीजे वेरलेमैन (@cjwerleman) के अकाउंट पर कानूनी कारणों से भारत में रोक लगा दी गई.’

एक अधिकारी ने बताया, ‘भारत विरोधी दुष्प्रचार’ करने वाली टिप्पणियों को लेकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अनुरोध पर अकाउंट पर रोक लगा दी गई है.

वेरलेमैन ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी की धुर-दक्षिणपंथी, हिंदू फासीवादी शासन की मांग पर भारत में उनके (ट्विटर) अकाउंट पर रोक लगा दी गई है.

राष्ट्रीय हितों के लिए खुद को एक कानूनी सक्रियता समूह बताने वाले कलिंग राइट्स फोरम ने दावा किया कि केंद्र ने वेरलेमैन के ‘भारत विरोधी दुष्प्रचार’ के खिलाफ उसकी शिकायत पर कार्रवाई की है.