भारत

यूपी: गंगा नदी में चलती नाव पर मांस पकाने और हुक्का पार्टी करने के मामले में एफ़आईआर दर्ज

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद शहर में गंगा नदी में चलती नाव पर कुछ लोगों द्वारा मांस पकाने और हुक्का पीने का एक वीडियो वायरल हुआ था. आठ लोगों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की गई है, उनमें से दो की पहचान कर ली गई है. उन पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने और पूजा स्थल को अपवित्र करने का आरोप लगाया गया है.

गंगा नदी में एक चलती नाव पर मांस पकाने और हुक्का पीने से संबंधित वीडियो का स्क्रीनशॉट.

इलाहाबाद: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद (प्रयागराज) शहर में गंगा नदी में एक चलती नाव पर मांस पकाने और हुक्का पीने के मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

शहर के दारागंज थाना के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गंगा नदी में चलती नाव पर कुछ लोगों के मांस पकाने और हुक्का पीने का एक वीडियो वायरल हुआ था.

एनडीटीवी के मुताबिक, चिकन और हुक्का पार्टी इलाहाबाद में गंगा और यमुना नदियों के मिलन स्थल संगम के पास हुई थी. आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

वीडियो में नाव पर सवार लोगों के एक समूह को दिखाया गया है, जिनमें से एक हुक्का पी रहा है. वीडियो में चिकन को ग्रिल करते हुए भी देखा जा सकता है. द वायर इस वीडियो की प्रामाणिकता की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं कर सकता है.

पुलिस के अनुसार, जिन आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, उनमें से दो की पहचान कर ली गई है.  आरोपियों पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने और पूजा स्थल को अपवित्र करने का आरोप लगाया गया है.

पुलिस ने कहा कि मामला संज्ञान में आने पर बुधवार (31 अगस्त) को बक्शी खुर्द चौकी प्रभारी दिवाकर सिंह की तहरीर पर दो नामजद और छह अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

उन्होंने बताया कि वीडियो में दिख रहे दो लोगों की पहचान अजफ और हसन के रूप में हुई, जिनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 153ए और 295 में एफआईआर दर्ज की गई है. ये दोनों दारागंज के बक्शी खुर्द के निवासी हैं, पुलिस को तलाशी के दौरान दोनों आरोपियों के मकान पर ताला लटका हुआ मिला.

अधिकारी ने बताया कि बाकी छह अज्ञात लोगों की भी पहचान करने की कोशिश की जा रही है.

पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘हम यह सुनिश्चित करेंगे कि आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाए और उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए.’

पुलिस प्रमुख शैलेश पांडे ने कहा, ‘वीडियो में हुक्का और मांसाहारी दोनों तरह के भोजन दिखाई दे रहे हैं. हम सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे.’

यह स्पष्ट नहीं है कि आरोपियों ने अपने स्वयं के परिवहन पोत में मांस और धूम्रपान करके किसी पूजा स्थल को कैसे अपवित्र किया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)