भारत

मध्य प्रदेश: अवैध शराब से भरे ट्रक पकड़ने गई सरकारी टीम पर शराब माफियाओं का हमला

घटना धार ज़िले की है, जहां कुक्षी में अवैध शराब से भरे ट्रक को पकड़ने गए सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट व उनकी टीम के साथ कुछ शराब माफियाओं ने कथित रूप से मारपीट की. हमला करने वाला मुख्य आरोपी कुक्षी के पूर्व विधायक व वर्तमान नगर परिषद अध्यक्ष मुकाम सिंह किराडे का रिश्तेदार बताया जा रहा है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

धार: मध्य प्रदेश के धार जिले के कुक्षी में मंगलवार को अवैध शराब से भरे ट्रक को पकड़ने गए सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) नवजीवन पवार एवं उनकी टीम के साथ कुछ शराब माफियाओं ने कथित रूप से मारपीट की.

धार के पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि आज सुबह कुक्षी के एसडीम पवार को सूचना मिली थी कि अवैध शराब से भरा एक ट्रक बड़वानी से अलीराजपुर की ओर जा रहा है.

उन्होंने बताया कि सूचना पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पवार और नायब तहसीलदार राजेश भिड़े ने अपने अन्य साथियों के साथ ट्रक का पीछा किया और ग्राम हल्दी स्थित ढाबे पर अवैध शराब से भरे ट्रक को पकड़ लिया.

उन्होंने बताया कि तभी ट्रक के पीछे आ रही स्काॉर्पियो में बैठे शराब माफियाओं के 6-7 गुर्गो ने एसडीएम एवं नायब तहसीलदार के सरकारी वाहन पर हमला कर दिया और उनके साथ मारपीट कर ट्रक को छुड़ाने का प्रयास किया.

सिंह ने बताया कि इसके बाद वे नायब तहसीलदार भिड़े को अपनी स्कॉर्पियो में बैठाकर भाग गए. इस दौरान आरोपियों द्वारा प्रशासनिक टीम पर फायरिंग भी की गई.

उन्होंने कहा कि घटना की सूचना मिलते ही कुक्षी पुलिस मौके पर पहुंची और अवैध शराब से भरे ट्रक के साथ एक आरोपी को घटनास्थल से पकड़ लिया. सिंह ने बताया कि बाकी आरोपियों की पहचान कर ली गई है और जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि हालांकि, बाद में पुलिस ने नायब तहसीलदार भिड़े को आरोपियों से छुड़वा लिया है.

इसी बीच, धार जिले के जिला दंडाधिकारी डॉ. पंकज जैन ने अपर जिला दंडाधिकारी श्रृंगार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय मजिस्ट्रेट जांच दल का गठन कर दिया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, सहायक जिला आबकारी आयुक्त यशवंत धनोरे ने बताया, ‘प्रारंभिक जांच में पता चला है कि चार ब्रांड की अवैध शराब धार की कुक्षी तहसील के माध्यम से बड़वानी से अलीराजपुर ले जाई जा रही थी, जब स्थानीय एसडीएम और नायब तहसीलदार ने गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए लोडिंग वाहन को रोका. लेकिन मौके पर बदमाशों का एक गिरोह पहुंच गया और प्रशासनिक अधिकारियों पर हमला किया.’

उन्होंने कहा कि ट्रक को जब्त कर लिया गया है और आगे की जांच जारी है.

धनोर ने कहा, ‘धार उन शीर्ष पांच जिलों में से एक है जहां अवैध शराब के अधिकतम मामले दर्ज किए जाते हैं, यानी औसतन प्रति वर्ष लगभग 2,500 मामले दर्ज होते हैं.’ उन्होंने कहा कि उनके विभाग को गुप्त सूचना के बारे में सूचित नहीं किया गया था.

एसपी आदित्य सिंह ने मीडियाकर्मियों को बताया, ‘घटना की सूचना सुबह मिली. एसडीएम नवजीवन सिंह पवार और नायब तहसीलदार ने शराब ले जा रहे एक ट्रक को पकड़ा था, जब कुछ लोगों ने उन पर हमला किया.’

एसपी ने कहा, ‘सूचना मिलने के तुरंत बाद पुलिस मौके पर पहुंची और एक आरोपी को गिरफ्तार करने में कामयाब रही, जबकि बाकी बदमाशों की पहचान और तलाश जारी है.’

दैनिक भास्कर के मुताबिक, टीम पर हमला करने वाला मुख्य आरोपी कुक्षी के पूर्व विधायक व वर्तमान नगर परिषद अध्यक्ष मुकाम सिंह किराडे का सगा भांजा बताया जा रहा है.

आबकारी विभाग के अनुसार, ट्रक में गोवा, लंदन और बॉम्बे ब्रांड की ह्विस्की की पेटियां मिलीं. ट्रक बड़वानी की ओर से धार की ओर आया था.

एसपी ने बताया कि सर्च के दौरान पुलिस ने मुख्य आरोपी सुखराम निवासी अलीराजपुर के साथी मुकाम को गिरफ्तार कर लिया है. अन्य की तलाश के लिए चार टीमें गठित की गई हैं.

इसी बीच, कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह हनी बघेल ने मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है.

उन्होंने जांच की मांग करते हुए लिखा, ‘आपके शासन में जब प्रशासनिक अधिकारी सुरक्षित नहीं हैं तो जनता की सुरक्षा की आशा करना बेमानी ही है. हमले का मुख्य आरोपी सुखराम भाजपा शासन में पूर्व मंत्री का रिश्तेदार है. भाजपा के प्रदेश मंत्री का रिश्तेदार भी है.’

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, ‘धार जिले में शराब माफियाओं का आतंक चरम पर है, एसडीएम और नायब तहसीलदार तक सुरक्षित नहीं हैं. भाजपा नेता सुखराम जो आदतन अपराधी है, शिवराज सरकार के संरक्षण में दिनदहाड़े पूरे जिले में अवैध शराब का कारोबार चला रहा है. शिवराज जी, मध्य प्रदेश को क्या बना दिया है?’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)