भारत

उत्तर प्रदेश: कथित सामूहिक बलात्कार पीड़िता सड़क पर नग्न घूमती नज़र आई

उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद ज़िले के भोजपुर इलाके का मामला. पुलिस ने कहा कि घटना एक सितंबर को भोजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई थी और पीड़िता के रिश्तेदार द्वारा सात सितंबर को दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर एक आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद जिले के भोजपुर इलाके की एक कथित सामूहिक बलात्कार पीड़िता का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें वह कथित तौर पर सड़क पर निर्वस्त्र स्थिति में नजर आ रही है.

17 सेकेंड के इस वायरल वीडियो में पीड़िता सड़क के किनारे चलती दिखाई दे रही है, जबकि कुछ वाहन उसके पास से गुजर रहे हैं.

पुलिस ने कहा कि घटना बीते एक सितंबर को भोजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई थी और पीड़िता के रिश्तेदार द्वारा सात सितंबर को दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार, घटना 1 सितंबर को हुई जब 15 वर्षीय लड़की अपने दोस्त के साथ पड़ोस के गांव में लगे एक मेले में गई थी. रात करीब आठ बजे जब वह लौट रही थी तो दो बाइक पर सवार पांच लोगों ने कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया और मुरादाबाद के सैदपुर खादर इलाके के वन क्षेत्र ले गए. इसके बाद सभी पांचों लोगों ने कथित तौर पर उसके साथ बारी-बारी से बलात्कार किया.

उसकी चीख-पुकार सुनकर एक ग्रामीण मौके पर पहुंचा, लेकिन तब तक पांचों आरोपी उसके कपड़े और अन्य सामान लेकर फरार हो चुके थे.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार, लड़की अपने घर पहुंचने के लिए मुरादाबाद-ठाकुरद्वारा रोड पर करीब दो किलोमीटर तक नग्न चलते नजर आती है. उसकी मदद करने के बजाय कुछ राहगीर मूकदर्शक बनकर खड़े नजर आ रहे हैं, जबकि अन्य ने उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा कर दिया.

लड़की के चाचा ने बताया, ‘जब वह घर लौटी तो उसका बहुत खून बह रहा था और उसने हमें आपबीती सुनाई.’

रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके बाद चाचा ने शिकायत दर्ज कराने के लिए पुलिस से संपर्क किया, लेकिन मामले में तब तक कोई कार्रवाई शुरू नहीं की गई जब तक कि उन्होंने जिला पुलिस प्रमुख हेमंत कुटियाल के सामने मामले को नहीं उठाया.

इसके बाद पुलिस हरकत में आई और बीते 7 सितंबर को एफआईआर दर्ज करने के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. शिकायतकर्ता ने एफआईआर में यह भी कहा कि आरोपी के परिवार के सदस्यों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है.

मुरादाबाद रेंज के पुलिस उप-महानिरीक्षक (डीआईजी) शलभ माथुर ने बुधवार को बताया, ‘घटना करीब एक पखवाड़े पहले की है और मामले के एक आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. महिला के मेडिकल परीक्षण में बलात्कार की पुष्टि नही हुई है. मामले की जांच की जा रही है.’

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) संदीप कुमार मीणा ने कहा पीड़िता और उसके माता-पिता ने मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान में सामूहिक बलात्कार की घटना से इनकार किया है.

इससे पहले मीडिया को दिए बयान में मीणा ने कहा, ‘घटना के संबंध में पीड़िता के एक रिश्तेदार की शिकायत पर पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. 15 सितंबर को एक आरोपी नौशे अली को गिरफ्तार किया गया है.’

मीणा ने कहा, ‘धारा 376डी (सामूहिक बलात्कार) और पॉक्सो अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. आगे की जांच जारी है.’

इसी बीच, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने वीडियो साझा करते हुए कहा कि अगर आज सख्त कदम नहीं उठाए गए तो एक दिन स्थिति नियंत्रण से बाहर हो जाएगी.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘मुरादाबाद में गैंगरेप के बाद आरोपियों ने सड़क पर नग्न अवस्था में नाबालिग बच्ची को घुमाया. सोचिए आज हमारे देश में अपराधियों के हौसले कितने बुलंद हैं. आज कड़े कदम नहीं उठाए गए तो एक दिन स्थिति काबू से बाहर चली जाएगी.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)