भारत

झारखंड: छात्राओं को कथित तौर पर पॉर्न वीडियो दिखाने पर शिक्षक का मुंह काला कर घुमाया

मामला पश्चिमी सिंहभूम ज़िले का है. पुलिस ने बताया कि कम से कम छह नाबालिग छात्राओं ने अपने घर में बताया था कि एक शिक्षक ने उन्हें अश्लील वीडियो दिखाए और ग़लत तरीके से छुआ था. आरोपी के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई गई थी, लेकिन कोई कार्रवाई न होने पर ग्रामीण नाराज़ थे.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

चाईबासा: झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में कक्षा के अंदर नाबालिग लड़कियों को कथित तौर पर अश्लील वीडियो दिखाने और उन्हें गलत तरीके से छूने पर गुस्साए ग्रामीणों, जिनमें ज्यादातर महिलाएं थीं, ने एक स्कूल शिक्षक का चेहरा स्याही से काला कर दिया और उसे जूतों की माला पहनाकर बस्ती में घुमाया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस आरोपी को छुड़ाकर चौकी ले गई. उसके बाद ग्रामीणों ने उसे तत्काल जेल भेजने की मांग को लेकर चौकी में धरना दिया.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि नोवामुंडी प्रखंड के एक उच्च माध्यमिक विद्यालय की कम से कम छह छात्राओं ने अपने माता-पिता को बताया था कि शिक्षक ने उन्हें अश्लील वीडियो दिखाया और उन्हें गलत तरीके से छुआ.

प्रभात खबर के मुताबिक, आरोप है कि बड़ाजामदा बस्ती के एक विद्यालय के शिक्षक प्रेम कुमार पोद्दार ने अश्लील वीडियो दिखाकर छात्राओं का यौन शोषण किया है. इसके बाद ग्रामीणों ने बुधवार को आरोपी के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई.

यह दावा करते हुए कि शिकायत दर्ज कराने के बावजूद उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई, ग्रामीणों ने एक बैठक की और उन्हें दंडित करने का फैसला किया.

गुरुवार को बड़ी संख्या में महिलाओं ने आरोपी को पकड़ा, उसके चेहरे पर स्याही पोती और जूतों की माला पहनाई. जब वे उसे बड़ाजामदा क्षेत्र में जुलूस करते हुए पास के रेलवे स्टेशन की ओर ले जा रहे थे, पुलिस मौके पर पहुंची और उसे बचाया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में प्रदर्शनकारियों ने आरोपी को जेल भेजने की मांग को लेकर पुलिस चौकी के बाहर धरना दिया.

अंचल निरीक्षक (किरीबुरु) वीरेंद्र एक्का ने कई घंटों तक प्रदर्शन करने वाली आक्रोशित महिलाओं को शांत करने का प्रयास किया. बड़ाजामदा थाने के प्रभारी अधिकारी बासुदेव टोप्पो ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है.

टोप्पो ने कहा कि महिलाओं ने एक दिन पूर्व शिक्षक के कृत्यों की लिखित शिकायत उपायुक्त, जिला शिक्षा पदाधिकारी, किरीबुरू के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी व बड़ाजामदा थाना से की थी. लिहाजा मामले की जांच चल रही है. जांच के बाद आरोपी शिक्षक को जेल भेज दिया जाएगा.